मोहाली : 2019 लोकसभा चुनावों की तैयारियों में एनडीए की सभी पार्टियों को एक करने की कोशिश में जुटे बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह मुंबई के बाद गुरुवार (7 जून) को चंडीगढ़ दौरे पर हैं. शाह का यह दौरा राजनीतिक लिहाज से काफी खास है. शाह यहां पर एनडीए गठबंधन के पदाधिकारियों व सदस्यों के साथ बैठक करेंगे. इस बैठक में पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल, पूर्व उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल, शिअद और बीजेपी के कई नेताओं के मुलाकात करेंगे. कयास लगाए जा रहे हैं कि आज अमित शाह पूर्व धावक मिल्खा सिंह से भी मिल सकते हैं.

अकाली दल के नेताओं के साथ अमित शाह 2019 लोकसभा चुनावों की रणनीति पर चर्चा करेंगे. शाह की इस बैठक के बारे में जानकारी देते हुए बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष कमल शर्मा ने कहा कि मोहाली में केंद्र सरकार के चार साल पूरे होने पर सरकार की ओर से किए गए कार्यों का लेखा-जोखा बताने शाह यहां पर पहुंच रहे हैं. शर्मा ने कहा कि बीजेपी ने सत्ता में आने से पहले जो वादे किए थे, उनको जमीनी स्तर पर पूरा किया जा रहा है.

2019 के आम चुनावों में समर्थन जुटाने के लिए बीजेपी ने 'संपर्क फॉर समर्थन' अभियान शुरू किया है. इस अभियान की कमान खुद पार्टी प्रमुख अमित शाह संभाले हुए हैं. अभियान के तहत अमित शाह एनडीए के सहयोगी दलों और अन्य नेता, अभिनेता तथा समाज की अलग-अलग हस्तियों से मुलाकात कर रहे हैं.

बुधवार(6 जून) को उन्होंने बॉलीवुड अभिनेत्री माधुरी दीक्षित और उनके परिवार से मुलाकात की. अमित शाह नेताओं से मुलाकात के साथ उन्हें केंद्र सरकार की उपलब्धियों की एक पुस्तिका भी दे रहे हैं. अमित शाह अपने सहयोगी दल लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) प्रमुख और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान से भी मुलाकात की. उनका प्रसिद्ध गायिका लता मंगेशकर से भी मुलाकात का कार्यक्रम था, लेकिन लता जी का स्वास्थ्य ठीक नहीं होने के कारण यह मुलाकात नहीं हो सकी.

मुंबई में माधुरी दीक्षित से मुलाकात करने के बाद शाह ने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से मुलाकात की थी.दोनों शीर्ष नेताओं की यह मुलाकात करीब 100 मिनट तक चली. 29 मार्च को शुरू किए इस अभियान के तहत शाह भारत के पूर्व मुख्य न्यायाधीश आरसी लाहोटी, योग गुरु बाबा रामदेव, प्रमुख उद्योगपति रतन टाटा, पूर्व क्रिकेटर कपिल देव, संविधान विशेषज्ञ सुभाष कश्यप, पूर्व सेना प्रमुख दलबीर सिंह सुहाग से भी मुलाकात कर चुके हैं.