नई दिल्ली: अंतरराष्ट्रीय बाजार में लगातार आ रही कच्चे तेल की कीमतों का फायदा घरेलू बाजार में भी मिल रहा है. गुरुवार को भी पेट्रोल-डीजल के दाम में कटौती हुई है. यह लगातार 9वां दिन है, जब पेट्रोल-डीजल के दाम में कटौती की गई है. गुरुवार को पेट्रोल 9 पैसे और डीजल 8 पैसे तक सस्ता हुआ. कटौती के बाद चारों महानगरों में पेट्रोल और डीजल के रेट सबसे कम दिल्ली में हैं. यहां पेट्रोल 77 रुपए 63 पैसे प्रति लीटर और डीजल 68 रुपए 73 पैसे है. घटते दामों में बावजूद मुंबई में अभी भी पेट्रोल-डीजल सबसे महंगा बिक रहा है. यहां पेट्रोल 85 रुपए 45 पैसे प्रति लीटर और डीजल 73 रुपए 17 पैसे प्रति लीटर है.
 
 पेट्रोल 9 पैसे सस्ता हुआ

  • शहर                    कीमत
  • दिल्ली            77 रुपए 63 पैसे
  • कोलकाता       80 रुपए 28 पैसे
  • मुंबई               85 रुपए 45 पैसे
  • चेन्नई            80 रुपए 59 पैसे

 
 डीजल 7 पैसे सस्ता हुआ

  • शहर                  कीमत
  • दिल्ली          68 रुपए 73 पैसे
  • कोलकाता     71 रुपए 27 पैसे
  • मुंबई             73 रुपए 16 पैसे
  • चेन्नई          72 रुपए 55 पैसे

 अगर बीते 9 दिनों की बात करें तो दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल के दाम 80 पैसे तक कम हुए हैं. 29 मई 2018 को दिल्ली में पेट्रोल के दाम 78.43 रुपए प्रति लीटर थे. इसके बाद से ही पेट्रोल की कीमतों में कुछ कुछ पैसों की गिरावट जारी है. वहीं डीजल, 58 पैसे तक सस्ता हुआ है. हालांकि, दूसरे महानगरों में पिछले 9 दिन में पेट्रोल पर 84 पैसे और डीजल पर 62 पैसे तक कम किए गए हैं.
 
अंतरराष्ट्रीय बाजार में पिछले 10 दिनों कच्चे तेल की कीमतों में 6 डॉलर प्रति बैरल से ज्यादा की गिरावट आ चुकी है. बुधवार को क्रूड 1.6 फीसदी तक गिरकर 74 डॉलर प्रति बैरल के आसपास पहुंच चुका है. तेल कंपनियां गिरते क्रूड का फायदा घरेलू बाजार में दे रही हैं. यही वजह है कि लगातार 9 दिन से पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कटौती की जा रही है.
बाजार के जानकारों के मुताबिक, अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट का फायदा दिख रहा है. तेल कंपनियां दाम नहीं बढ़ा रही हैं. हालांकि, पिछले एक महीने में पेट्रोल-डीजल में जो बढ़ोतरी हुई थी उसके मुकाबले कटौती बहुत मामूली है. लेकिन, आने वाले दिनों में फायदा और दिख सकता है. 22 जून को होने वाली ओपेक देश की बैठक से नतीजे निकलने के बाद ही स्थिति साफ होगी कि पेट्रोल-डीजल में कटौती जारी रहेगी या नहीं. अनुमान है कि ओपेक देशों की बैठक के बाद कच्चे तेल के दाम 60 डॉलर प्रति बैरल तक आ सकते हैं