जुबां तो खोल, नजर तो मिला, जवाब तो दे, मैं तुझपे कितनी बार लुटा हूं मुझे हिसाब तो दे। शिवराज की किसानों को तमाम सौगातों के बीच राहुल बाबा ने कहा कि कांग्रेस की सरकार बनी तो दस दिन में किसानों के कर्ज माफ कर देंगे। उम्दा सियासी खेल चल्लिया हेगा साब। बाकी खबर को जानदार वैटेज मिला। स्वरूपानंदजी और निश्चलानंदजी से बेबाक बात पढ़ी जाएगी। शहर में शाम 4 से रात 12 के बीच ज्यादा रोड एक्सिडेंट होते हैं। विशात त्रिपाठी की मुकम्मल खबर। पासपोर्ट वेरिफिकेशन आधार से ही होने वाली खबर सभी के काम की है। वोटर लिस्ट के फर्जीवाड़े की बारीकी से जांच की जा रही है। बड़े तालाब के सूखने पर अलीम बजमी का घूमता आईना में उम्दा पीस लिखा गया। मंदसौर गोलीकांड में मारे गए किसानों के परिजनों का इल्जाम है कि उन्हें राहुल की सभा में जाने से रोका गया।