कुआलालंपुरः पिछले मैच में बांग्लादेश के खिलाफ शिकस्त के बाद वापसी करते हुए भारत ने आज यहां महिला एशिया कप टी 20 टूर्नामेंट में श्रीलंका में सात विकेट से हराकर फाइनल में जगह बनाने की उम्मीदें जीवंत रखी है। थाईलैंड और मलेशिया के खिलाफ आसान जीत के बाद भारत को पिछले मैच में बांग्लादेश के खिलाफ सात विकेट से हार का सामना करना पड़ा था जो अपने इस पड़ोसी देश के खिलाफ किसी भी प्रारूप में उसकी पहली हार है। भारत ने हालांकि आज बेहतर प्रदर्शन किया।

बायें हाथ की स्पिनर एकता बिष्ट (20 रन पर दो विकेट) ने दो विकेट चटकाने के अलावा दो बल्लेबाजों को रन आउट भी किया। झूलन गोस्वामी (20 रन पर एक विकेट), अनुजा पाटिल (19 रन पर एक विकेट) और पूनम यादव (23 रन पर एक विकेट) ने भी एक - एक विकेट चटकाए जिससे श्रीलंका की टीम सात विकेट पर 107 रन ही बना सकी। भारत ने इसके जवाब में शीर्ष और मध्यक्रम की बल्लेबाजों की उम्दा पारियों की मदद से सात गेंद शेष रहते तीन विकेट पर 110 रन बनाकर जीत दर्ज की।

सलामी बल्लेबाजों मिताली राज (23) और स्मृति मंधाना (12) ने टीम को अच्छी शुरुआत दिलाई। ये दोनों हालांकि जब पवेलियन लौटी तो 11 .2 ओवर में भारत का स्कोर दो विकेट पर 55 रन था। कप्तान हरमनप्रीत कौर ने इसके बाद 25 गेंद में दो चौकों की मदद से 24 रन बनाए। हरमनप्रीत जब पवेलियन लौटी तो भारत का स्कोर तीन विकेट पर 70 रन था। वेदा कृष्णमूर्ति (29) और अनुजा पाटिल (19) ने इसके बाद 32 गेंद में 40 रन की अटूट साझेदारी करके भारत को लक्ष्य तक पहुंचाया।            

फाइनल के लिए हराना होगा पाकिस्तान को
भारत , पाकिस्तान और बांग्लादेश तीनों के फिलहाल चार - चार मैचों में छह - छह अंक हैं। लेकिन हालांकि प्लस 2 . 709 की रन रेट के साथ शीर्ष पर चल रहा है।  फाइनल में जगह बनाने के लिए भारत को शनिवार को अपने अंतिम मैच में हर हाल में चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को हराना होगा।  इससे पहले श्रीलंका की कप्तान शशिकला सिरिवर्धने का टास जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला गलत साबित हुआ। टीम ने नियमित अंतराल पर विकेट गंवाए और सात विकेट पर 107 रन ही बना सकी। हसिनी परेरा ने 43 गेंद में सर्वाधिक 46 रन बनाए। उन्होंने अपनी पारी में चार चौके मारे। सलामी बल्लेबाज यशोदा मेंडिस ने भी 39 गेंद में 27 रन की पारी खेली। इन दोनों के अलावा कोई अन्य बल्लेबाज दोहरे अंक में नहीं पहुंच सकी।