मुंबई : दक्षिण मुंबई के फोर्ट एरिया में शनिवार (9 जून) सुबह एक इमारत में भीषण आग लग गई. इमारत में आग लगने की जानकारी मिलते ही दमकल की 16 गाड़ियां मौके पर पहुंची और आग पर काबू पाने की कोशिश में जुट गई हैं. शुरुआती जानकारी के मुताबिक आग कोठारी मेंशन नाम की छह मंजिला इमारत में लगी, जिसके बाद यह पूरी बिल्डिंग में फैल गई. आनन-फानन में तुरंत बिल्डिंग को खाली करवाया गया. आग लगने के कारण इमारत का एक हिस्सा ढह गया है.

मुंबई की इमारत में लगी आग को बुझाने के लिए मौके पर पहुंचे दमकल विभाग के दो कर्मचारी जख्मी हो गई है. न्यूज एजेंसी ANI से बातचीत करते हुए फायर ब्रिगेड के एक अधिकारी ने कहा कि मौके पर आग बुझाने के लिए 16 इंजन, 11 पानी के टैंकर और 150 कर्मचारियों को तैनात किया गया है. उन्होंने बताया कि आग को बुझाने में जुटे दो कर्मचारी घायल हो गए हैं, जिन्हें नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. दमकल विभाग के अधिकारियों के मुताबिक आग पहले लेवल 3 की थी, जिसे बढ़ाकर लेवल 4 कर दिया गया है.

2 fire fighters had minor injuries, rest everybody is safe. We deployed 16 fire engines, 11 tankers & 150 fire officers, situation is under control. Cause of fire is matter of investigation as building was completely vacant: Chief Fire Officer on fire at #Mumbai's Patel Chambers pic.twitter.com/s4vTY8M5jU

— ANI (@ANI) June 9, 2018

#WATCH: A part of Patel Chambers collapsed as firefighters continue to douse the fire that broke out a few hours back in Mumbai's Fort area. 2 Fire officials injured.18 Fire tenders at the spot. pic.twitter.com/l57dUXoOeT

— ANI (@ANI) June 9, 2018

मुंबई में पिछले एक सप्ताह में आग लगने की यह दूसरी घटना है. 1 जून को ही दक्षिण मुंबई स्थित आयकर विभाग के सिंधिया हाउस में भीषण आग लग गई थी. बता दें कि आयकर विभाग के इस कार्यालय में नीरव मोदी जैसे कई आर्थिक अपराधियों से जुड़े हुए कानून दस्तावेज मौजूद थे, जो आग में जलकर खाक हो गए थे.

हालांकि अब तक इस बात का पता नहीं चल पाया है कि आखिरकार इमारत में आग कैसे लगी. फिलहाल आग को बुझाने के लिए दमकल विभाग के कर्मचारी मशक्कत कर रहे हैं. दमकल विभाग के कर्मचारियों ने रोड यातायात को कुछ देर के लिए फिलहाल रोक दिया है. रिपोर्ट्स के मुताबिक जिस इमारत में आग लगी है, इसे बीएमसी ने पहले ही खतरनाक घोषित किया था.