22 हजार स्टूडेंट्स के खातों में पहुंचे 55 करोड़, 60 लाख वोटर्स फर्जीवाड़े में फिर देंगे सबूत
प्रसं, भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को भोपाल में 22 हजार से अधिक प्रतिभाशाली विद्यार्थियों के बैंक खातों में लैपटॉप के लिए करीब 55 करोड़ की राशि ट्रांसफर की। भोपाल के लाल परेड ग्राउंड में आयोजित कार्यक्रम में प्रदेश के सभी 51 जिलों से पात्र विद्यार्थियों को बुलाया गया था। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर कहा कि वे चाहते हैं कि प्रदेश के विद्यार्थी प्रशासनिक सेवा में जाएं। अच्छे पदों में बैठने से प्रदेश की शान होगी। उन्होंने कहा कि हमने विद्यार्थियों के पढ़ाई का पूरा खर्चा उठाने का निर्णय लिया है। आगे और जरूरत होगी तो छात्रों के हितों में फैसले लिए जाएंगे। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर विद्यार्थियों के साथ फोटो सेशन भी कराया। बच्चों का उत्साह देखते ही बनता था। इस मौके पर स्कूल शिक्षा मंत्री विजय शाह और राज्य मंत्री दीपक जोशी प्रमुख रूप से उपस्थित थे।

कर्मचारी संगठनों से कमलनाथ ने की सीधी बात
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ से आज कई कर्मचारी संगठनों के नेताओं ने मुलाकात की। जो नेता यहां पहुंचे थे उनमें तृतीय वर्ग कर्मचारी संघ के एलएन कैलासिया, निगम मंडल कर्मचारी संघ के चंद्रशेखर परसाई, अनिल बाजपेयी,  जितेन्द्र सिंह, इंजीनियर अशोक शर्मा, सुरेन्द्र सिंह सोलंकी, भुवनेश पटेल, एससी शर्मा, आरके द्विवेदी सहित कई कर्मचारी नेता शामिल थे। सभी ने अपनी-अपनी बात कमलनाथ, बाला बच्चन और पीसी शर्मा के सामने रखी।

कमलनाथ बोले-नहीं हुई ठीक जांच, नए सबूतों के साथ जाएंगे चुनाव आयोग
मध्यप्रदेश में साठ लाख वोटरों के फर्जी होने से जुड़ी शिकायत को चुनाव आयोग द्वारा खारिज करने से कांग्रेसी नेता नाराज हैं। कांग्रेस ने इस जांच को लेकर चुनाव आयोग की टीम की जांच पर सवाल उठाए हैं। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने पीसीसी ने पत्रकारों से चर्चा में कहा कि आयोग की जांच से हम संतुष्ट नहीं है और इस मामले में फिर शिकायत करेंगे। उन्होंने कहा कि हमने जो शिकायत की थी वह 1 जनवरी 2018 को आयोग द्वारा जारी मतदाता सूची के आधार पर की थी। आयोग को इसी को आधार बनाकर जांच करनी थी। इस मामले में कोर्ट जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि हम अभी और प्रमाण जुटा रहे हैं। वहीं चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया  कहा कि भोपाल में ही बैठकर फर्जी वोटरों की शिकायत की जांच कैसे कर ली। आयोग ने अधिकारियों ने सेम्पल सर्वे को जांच का प्रमुख आधार बनाया जबकि घर-घर जाकर वेरीफिकेशन किया जाना चाहिए था।

CEC रावत वर्ल्ड इलेक्शन बॉडी की बैठक में गए साउथ कोरिया
मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत इन दिनों साउथ कोरिया में एसोसिएशन आॅफ वर्ल्ड इलेक्शन बॉडी की बैठक में भाग लेने गए हुए हैं। वहां पर वे चुनाव प्रक्रिया के मामले में अपने विचार रखेंगे। चुनाव आयुक्त के स्वदेश लौटने पर कांग्रेस वोटर लिस्ट मामले में अपनी शिकायत दर्ज करा सकती है।

इधर दिल्ली में OBC सम्मेलन, राहुल गांधी ने कहा देश की लाइफ लाइन, सेवादल को अहम जिम्मेदारी का ऐलान
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सोमवार को दिल्ली में ओबीसी सम्मेलन को संबोधित करेंगे। ये सम्मेलन दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में हो रहा है। इस आयोजन को कांग्रेस के ओबीसी समुदाय में अपना आधार बढ़ाने के तौर पर देखा जा रहा है। कांग्रेस की ओर से कराए जा रहे ओबीसी सम्मेलन में देश भर से ओबीसी समुदाय के लोग इकट्ठा हो रहे हैं। कांग्रेस अध्यक्ष ने ओबीसी को देश की लाइफ लाइन करार दे चुके हैं।  कांग्रेस का सेवा दल आरएसएस को टक्कर देने के लिए देश में 1000 जगह ध्वज वंदन कार्यक्रम आयोजित करने की तैयारी में है। कार्यक्रम पर अमल के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आज इसका ऐलान कर सकते हैं।