नई दिल्ली: ट्रेन के बाद अब सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया से सफर करना भी महंगा होगा. क्योंकि, कंपनी ने बैगेज चार्ज को बढ़ा दिया है. अगर आप भी एयर इंडिया में सफर करने जा रहे हैं तो अपने सामान का वजन जरूर जांच लें. सीमा से अधिक वजन होने पर आपको ज्यादा पैसे चुकाने पड़ेंगे. सरकारी विमानन कंपनी ने एक सर्कुलर जारी कर अतिरिक्त सामान पर अधिक चार्ज वसूलने का ऐलान किया है. कर्ज में डूबी कंपनी का यह चार्ज 11 जून से ही लागू कर दिया गया है.

कितना बढ़ाया गया चार्ज
एयर इंडिया ने सफर के दौरान सीमा से अधिक सामान का वजन होने पर चार्ज में 100 रुपए प्रति किलो की वृद्धि की है. अब यह चार्ज 500 रुपए कर दिया गया है. पहले यह चार्ज 400 रुपए प्रति किलो के हिसाब से वसूला जाता था. एयर इंडिया ने पिछले सप्ताह इसको लेकर सर्कुलर जारी किया था.

चार्ज पर GST भी लगेगा
सर्कुलर में कहा गया था कि डोमेस्टिक सेक्टर में अतिरिक्त सामान दर में 11 जून से बदलाव कर इसे 400 रुपए प्रति किलोग्राम से बढ़ाकर 500 रुपए प्रति किलो करने का फैसला किया गया है. नई दरें एयर इंडिया की सभी फ्लाइट्स के लिए लागू है. इस चार्ज पर इकोनॉमी क्लास के यात्रियों को 5 फीसदी और अन्य को 12 फीसदी जीएसटी भी देना होगा. हालांकि, अरुणाचल प्रदेश, मिजोरम, त्रिपुरा, असम, मणिपुर, मेघालय, नगालैंड, सिक्किम से यात्रा की शुरुआत करने या वहां पहुंचने पर जीएसटी नहीं चुकाना होगा.

एयर इंडिया में ज्यादा छूट
सामान ले जाने की सीमा की बात करें तो एयर इंडिया दूसरी विमानन कंपनियों की तुलना में अधिक छूट देती है. एयर इंडिया में 25 किलोग्राम भार तक सामान ले जाने पर आपको अतिरिक्त शुल्क नहीं देना होता है, जबकि दूसरी कंपनियां 15 किलोग्राम से अधिक सामान ले जाने पर चार्ज करती हैं.

ट्रेन में अतिरिक्त भार पर पेनाल्टी
पिछले दिनों रेलवे ने भी सीमा से अधिक सामान ले जाने पर पेनाल्टी लगाने का प्रावधान लागू किया है. इस नियम के तहत यात्रियों को अधिक सामान ले जाने पर निर्धारित राशि से छह गुना अधिक राशि बतौर जुर्माना देनी होगी. नियमानुसार स्लीपर क्लास और सेकेंड क्लास में आप बिना अतिरिक्त भुगतान किए क्रमश: 40 किलो और 35 किलो सामान तक ले जा सकते हैं. इससे ज्यादा आपको सामान ले जाना है तो आप पार्सल कार्यालय में अतिरिक्त भुगतान कर 80 किलो और 70 किलो सामान तक ले जा सकते हैं. अतिरिक्त सामान मालगाड़ी में रखा जाता है.