सागर : मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गरीबों की हालत में सुधार के लिए आज नया सूत्र देते हुए कहा कि देश के अमीरों से कर के रुप में धनराशि लेकर इसे गरीबों के लिए संचालित योजनाओं में लगाया जाएगा। सीएम ने सागर जिले के खुरई में बीना सिंचाई परियोजना के भूमिपूजन के अवसर पर आयोजित समारोह को संबोधित किया। इस मौके पर पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री गोपाल भार्गव, गृह मंत्री एवं खुरई विधायक भूपेंद्र सिंह और सागर सांसद लक्ष्मीनारायण यादव समेत अनेक जनप्रतिनिधि मौजूद थे।

चौहान ने अपने भाषण में कांग्रेस और उसके नेताओं का बार बार नाम लिया और कहा कि उन्होंने गरीबी हटाओ का नारा दिया लेकिन गरीबी हटाने के लिए भाषण के अलावा कुछ नहीं किया। गरीबी भाषण से नहीं हटती है और इसके लिए कुछ करना पड़ता है। उन्होंने कहा कि सरकार बड़े उद्योगपतियों से कर के रूप में पैसे लेकर इसका उपयोग गरीबों के हित संबंधी योजनाओं में करेगी। चौहान ने कहा कि गरीबी हटाने का यही सूत्र केंद्र की मोदी और राज्य की भाजपा सरकार का है। इसके तहत कार्य शुरू कर दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि अगर नीयत, नीति और नेता ठीक हों तो भगवान की कृपा से सभी कार्य ठीक होते हैं। भाजपा भी इसी सूत्र के साथ कार्य कर रही है।

केंद्र और राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं के तहत गरीबों को बगैर किसी भेदभाव के जमीन का मालिकाना हक, पक्के मकान के लिए धनराशि, गैस कनेक्शन, बिजली, सड़क, स्वास्थ्य सुविधाओं और रोजगार के अवसर मुहैया कराए जा रहे हैं। इन कार्यों से गरीबी धीरे धीरे दूर होती जाएगी।

चौहान ने बीना सिंचाई परियोजना का जिक्र करते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार के तत्कालीन मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह योजनाओं के लिए पैसे का रोना सदैव रोते रहते थे। उनका कहना रहता था कि सरकार के पास तनख्वाह बांटने के लिए ही पैसा नहीं है, तो वे योजनाएं कहां से बनाएं। वहीं मौजूदा सरकार के पास पैसे की कमी नहीं है। तनख्वाह भी बांटी जा रही है और किसानों समेत सभी के लिए योजनाएं बनाकर क्रियान्वित भी की जा रही हैं। इसी सोच के साथ भाजपा सरकार लगातार कार्य कर रही है और आगे भी करती रहेगी। चौहान ने कहा कि वर्तमान दौर में भी कांग्रेस के नेता विभिन्न बातों को लेकर सिर्फ भ्रम फैलाने का कार्य कर रहे हैं। लेकिन आम लोग सब समझ रहे हैं और कांग्रेस नेता अपने मंतव्य में सफल नहीं हो पाएंगे।