भोपालः बैतूल के यश पाठे सुसाइड केस की मुख्य आरोपी श्रुति शर्मा और शालीन उपाध्याय को हिरासत में ले लिया गया है. दोनों को पुणे में एक दोस्‍त के फ्लैट से पकड़ा गया है. पुलिस को गुमराह करने के लिए श्रुति ने अपना मोबाइल भोपाल में छोड़ दिया था लेकिन पुणे के बैंक से ट्रांजिक्शन करने पर सायबर सेल की चपेट में आ गई. श्रुति पूर्व विधानसभा सचिव सत्यनारायण शर्मा की बेटी है.

लक्ष्मी नारायण कॉलेज के MBBS के सेकंड ईयर के छात्र यश ठाणे की खुदकुशी के बाद यश का एक वीडियो सामने आया था. जिसमें उसे कुछ बेल्ट से बुरी तरह पीट रहे थे. बता दें 11 जून को यश के साथ उसके कुछ सीनियर्स ने रैगिंग के नाम पर बुरी तरह मारपीट की थी. जिससे यश काफी आहत था. मारपीट के बाद ही यश ने 13 जून को बैतूल आकर फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी.

यश को खुदकुशी करने के लिए उकसाने के मामले में पुलिस ने यश की सीनियर श्रुति शर्मा और उसके दोस्त गौरव दुबे सहित अन्य लोगों को आरोपी बनाया है और पूरा मामला ड्रग से जुड़ा बताया जा रहा है. पुलिस के मुताबिक जिस दिन यश के साथ मारपीट हुई थी उसी दिन यश ने श्रुति के साथ ड्रग्स भी ली थी. नशे के चलते दोनों में कुछ कहा-सुनी हो गई थी. जिसके चलते श्रुति के कहने पर ही यश के साथ मारपीट की गई थी.

अपने साथ हुई मारपीट से यश काफी तनाव में था और इसी तनाव के चलते भोपाल से बैतल आकर 13 जून की रात को यश ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. बता दें श्रुति, विधानसभा के पूर्व सचिव सत्नारायश शर्मा की बेटी है. श्रुति के दोस्त गौरव दुबे ने पुलिस कस्टडी में बताया कि यश को ड्रग्स की लत भी श्रुति ने ही लगवाई थी.

बता दें श्रुति ने यश पर चोरी का इल्जाम लगाकर उसकी पिटाई करवाई थी. वहीं श्रुति ने यश के पिता को भी फोन करके पैसों की माग की थी. श्रुति ने यश के पिता को फोन करके चोरी के इल्जाम में यश को थाने भेजने की भी धमकी दी थी. जिसके चलते यश के पिता ने श्रुति के एकाउंट में 10 हजार रुपये ट्रांसफर किए थे.