जबलपुर: मध्‍य प्रदेश के सिवनी में पति की प्रताड़ना से परेशान एक महिला ने नर्मदा में छलांग लगाक‍र आत्‍महत्‍या करने की कोशिश की. लेकिन भगवान को कुछ और ही मंजूर था. नर्मदा नदी के पास मौजूद पांच बच्‍चों ने उस महिला को तुरंत नदी से निकाल लिया. फिलहाल महिला का जिला अस्‍पताल में इलाज हो रहा है.

घटना सिवनी जि‍ले के ग्राम मानेगांव निवासी सेवकली बाई ने अपने पति की प्रताड़ना से तंग आकर आत्महत्या करने का प्रयास किया. बारिश से उफान मार रही नर्मदा नदी में महिला ने छलांग तो लगाई लेकिन मौके पर मौजूद मनकेश्वर, गोलू मरावी, मोनू उइके, अर्चदीप सरदार और धर्मेंद्र सिंह ने उसे बचा लिया. बच्चों ने बताया कि वे जब नदी में नहा रहे थे उस दौरान महिला नदी के पास ऑटो से उतरी ओर अचानक नदी में छलांग लगा दी.

बच्चों ने बताया कि हमने देखा महिला पानी के बहाव में बहने लगी तो उन पांचों ने भी नदी में छलांग लगाई और किसी तरह महिला को पकड़कर किनारे में लाए.  पुलिस को सूचना दी और महिला को अस्पताल में भर्ती कराया.

महिला ने बताया कि वह अपने पति से प्रताड़ित है और जीना नही चाहती. इस कारण आत्महत्या का प्रयास किया, वहीं जिला अस्पताल के डॉक्टर के अनुसार महिला थोड़ा घबराई हुई है. अब सवाल इस बात का है कि अपनी जान की परवाह किए बिना उफनाती नदी में कूदकर महिला की जान बचाने वाले इन बहादुर बच्चों को सरकार कोई पुरस्‍कार देगी या नहीं.