कैंसर की बीमारी किसी भी उम्र में किसी को भी हो सकती है लेकिन यह आजकल महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर, सर्वाइकल कैंसर, कोलोरेक्टल कैंसर, ओवेरियन कैंसर और मुंह का कैंसर होने की शिकायत ज्यादातर देखने को मिल रही है। हेल्थ के प्रति लापरवाही बरतने के कारण 60 प्रतिशत महिलाओं को इस बीमारी की जानकारी तब होती है जब यह गंभीर रूप ले लेती है। इस बीमारी का समय पर पता चलने पर इसका इलाज शुरू किया जा सकता है। आज हम आपको ऐसी 5 हर्ब्स के बारे में बताएंगे, जिसे रूटीन में शामिल करने से आप कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से बच सकती है।

1. हल्दी
हल्दी केवल दाल-सब्जी को फ्लेवर देने के लिए ही नहीं शरीर को कई रोगों दूर करने में मदद करती है। ह्लदी एक बहुत अच्छा एंटी-बैक्‍टीरियल माना जाता है। हल्दी में पाया जाने वाला करक्यूमिन नामक तत्‍व कैंसर को समाप्त करने में मदद करता है। हल्दी एक तरह का एंटीऑक्सीडेंट है जो शरीर में पैदा करने वाली कोशिकाओं से लड़ता है।

2. गिलोय
गिलोय की पत्तियों में कैल्शियम, प्रोटीन, फॉस्फोरस और इसके तने में स्टार्च पाया जाता है। यह एक श्रेष्ठ एंटीबयोटिक है। गिलोय की जड़ों में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट कैंसर की रोकथाम और उपचार में इस्तेमाल किया जाता है। कैंसर से बचने के लिए गिलोय बहुत ही अच्छी आयुर्वेदिक औषधि है। इसलिए कैंसर से बचने के लिए रोजाना गिलोय की 1 गोली का सेवन करें।

3. लहसुन
लहसुन को कई बीमारियों की दवा माना जाता है। आयुर्वेद के अनुसार रोजाना थोड़ी मात्रा में लहसुन का सेवन से कैंसर की 80 प्रतिशत संभावना कम हो जाती है। यह शरीर में कैंसर को बढ़ने से रोकता है। लहसुन में मौजूद एलिसिन नामक फेफड़ों के कैंसर से बचाने में मदद करता है।

4. व्हीटग्रास
इसमें क्लोरोफिल, एंजाइम, अमिनो एसिड, विटामिन और मिनरल्स होते हैं। रोजाना व्हीटग्रास का जूस पीने से कैंसर जैसे गंभीर रोग का रिस्क खत्म होता हैं।

5. गौमूत्र
गौमूत्र में करक्यूमिन नामक तत्व भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो कैंसर जैसी बीमरी को जड़ से खत्म करता है। शरीर में करक्यूमिन की कमी होने पर शरीर की कोशिकाएं अनियंत्रित होकर ट्यूमर का रूप लेती है और बाद में यही ट्यूमर कैंसर में बदल जाते हैं। सुबह खाली पेट गौमूत्र के सेवन से कैंसर सेल को बढ़ने से रोका जा सकता है। इसके अलावा इससे शरीर स्वस्थ और रोगमुक्त होगा।