ब्रिस्टलः ब्रिस्टल के मैदान भारत ने तीसरे और आखिरी ट्वंटी-20 मैच में टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी चुनी है। भारत-इंगलैंड अभी सीरीज में बराबरी पर चल रहे हैं। सीरीज जीतने के लिए दोनों टीमों को यह मैच जीतना होगा। 

भारतीय बल्लेबाजों को लगाना होगा पूरा जोर
विराट कोहली की अगुवाई वाली टीम इंडिया ने मैनचेस्टर में हुए पिछले मैच में पांच विकेट पर 148 रन का स्कोर बनाया था जिसके जवाब में इंग्लैंड ने दो गेंदे शेष रहते जीत अपने नाम कर ली थी। कप्तान विराट कोहली ने पिछले मैच में हार के लिए बल्लेबाजों को जिम्मेवार ठहराया है और माना है कि टीम 10 से 15 रन पीछे थी। पहले ट्वंटी 20 की तरह इस बार भी रोहित शर्मा और शिखर धवन की ओपनिंग जोड़ी ने प्रभावित नहीं किया और दोनों ने पहले विकेट के लिए मात्र सात रन की साझेदारी की जबकि पहले मैच में भी दोनों ने सात रन की ही साझेदारी की थी जिसमें धवन ने 4 रन ही बनाए जबकि दूसरे मैच में दिल्ली के बल्लेबाज ने 10 रन ही बनाए।   

सीमित ओवर में भारत की विशेषज्ञ ओपनिंग जोड़ी के लगातार दो मैचों में फ्लॉप होने से निश्चित ही टीम को खराब शुरूआत मिली। विराट ने भी दूसरा मैच हारने के बाद कहा था कि जब टीम शुरूआत में ही तीन विकेट गंवा देती है तो फिर वापसी करना मुश्किल होता है। ऐसे में निर्णायक मैच में बल्लेबाजों को काफी मेहनत करनी होगी। मैच से एक दिन पूर्व अपना 37वां जन्मदिन मना रहे विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी ने मैनचेस्टर में एक बार फिर निचले क्रम पर खुद की अहमियत को साबित किया और 24 गेंदों में पांच चौके लगाते हुए नाबाद 32 रन की पारी से टीम को कुछ लडऩे लायक स्कोर तक पहुंचाया। 

दूसरे मैच में गेंदबाजी में दिखी थी कमी
वहीं कप्तान विराट ने 47 रन और ऑलराउंडर सुरेश रैना ने 27 रन की पारियों से प्रतिस्पर्धी स्कोर खड़ा किया। जहां टीम के बल्लेबाजों ने थोड़ा निराश किया और पिछले मैच के शतकधारी लोकेश राहुल इस बार सस्ते में आउट हुए वहीं गेंदबाजी में भी कुछ कमी दिखी। इंग्लैंड के लिए जहां पिछले मैच में चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव सिरदर्द रहे थे वहीं इस बार मेजबान टीम अच्छे होमवर्क के साथ उतरी और उन्होंने कुलदीप को सावधानी के साथ खेला। 

वह चार ओवर में 34 रन लुटाकर कोई विकेट नहीं ले पाए। हालांकि तेज गेंदबाज उमेश यादव से विराट प्रभावित दिखे जिन्होंने 36 रन पर दो विकेट निकाले। वहीं भुवनेश्वर ने भी इस बार अच्छे इकोनोमी रेट से 19 रन पर एक विकेट लिया। मेजबान टीम के लिये मध्यक्रम में नाबाद 58 रन की मैच विजयी अर्धशतकी पारी खेलने वाले एलेक्स हेल्स, जॉनी बेयरस्टो के अलावा ओपनिंग क्रम में जेसन रॉय, जोस बटलर और इयोन मोर्गन टीम के बल्लेबाजी क्रम का अहम हिस्सा हैं जबकि गेंदबाजी में आदिल राशिद, डेविड विली, लियाम प्लेंकेट पर निगाहें रहेंगे।