गलत खान-पान के कारण बच्चों से लेकर बड़ों की दांतों की समस्याएं बढ़ती जा रही है। सबी अपने दांतों स्वस्थ रखने के लिए कई तरह के मंहगे से मंहगे टूथपेस्ट यूज करते हैं लेकिन उन्हें इसका फायदा नहीं मिल पाता। आज हम उनकी दांतों की समस्याओं को ठीक करने के लिए आयुर्वेदिक जड़ी-बूटीयों के बारे में बताएंगे, जिसे इस्तेमाल करके आप दांतों की हर तरह की समस्याओं से छुटकारा पा सकेंगे।


1. नीम
नीम के पत्तियों में एंटी-बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं जो मुंह के सभी तरह के वायरस और बैक्टीरिया को खत्म करते हैं। पुराने समय में दांतों की सफाई के लिए नीम की दातुन ही इस्तेमाल करते थे, जिससे उनके दांत स्वस्थ रहते थे। दांतों की समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए नीम को इस तरह करें इस्तेमाल।

दांतों में दर्द होने पर नीम की 3-4 पत्तियां धोकर चबाएं। इससे दर्द से बहुत जल्दी आराम मिलेगा। मुंह की बदबू से राहत पाने के लिए रोज नीम की दातुन से दांतों की सफाई करें। दांतों में झनझनाहट और मुंह में छाले होने पर पानी में नीम की पत्तियां उबाल लें और फिर इससे दिन में बार-बार कुल्ला करें।


2. तुलसी
तुलसी की पत्तियों में एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-इंफ्लेमेट्री और दर्द निवारक गुण होते हैं जो दांतों की समस्याओं से छुटकारा दिलाने में मदद करते है। दांतों की इन समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए तुलसी की पत्तियों का इस तरह करें इस्तेमाल।

दांतों के पीलेपन से छुटकारा पाने के लिए तुलसी की पत्तियों को को सुखा कर चूर्ण बना लें और फिर इससे दांतों की सफाई करें। दांतों में दर्द होने पर तुलसी की पत्तियों को पीस कर पेस्ट बना लें और इसे दर्द वाली जगह पर लगाएं।

मसूड़ों में सूजन होने पर तुलसी की पत्तियों की चाय बना कर पीएं। आपको बहुत जल्दी फायदा मिलेगा। अगर आप चाहते हैं कि आपके मुंह में किसी तरह की समस्या न हो तो तुलसी की पत्तियों का चूर्ण बना कर टूथपेस्ट में मिला कर रोज ब्रश करें।


3. बबूल
बबूल की पत्तियां, छाल और फलियां तीनों ही मुंह के लिए बहुत फायदेमंद है। बबूल में मौजूद एंटी-ऑक्सिडेंट्स गुण मुंह की कई समस्याओं से छुटकारा दिलाने में मदद करते हैं। जानिए दांतों की समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए किस तरह इस्तेमाल करें बबूल।

मसूड़ों में खून आने और दांतों में कीड़े लगने की समस्या होने पर बबूल की छाल पानी में उबाल लें और फिर इस पानी से दिन में 3-4 बार कुल्ले करें। दांतों के पीलेपन से छुटकारा पाने के लिए बबूल की छाल, पतियां, फूल और फलियां बराबर मात्रा में लेकर उसका चूर्ण बनाएं और इससे रोजाना दांतों की सफाई करें।