फेसबुक के स्वामित्व वाले Whatsapp पर अफवाह, फेक न्यूज फैलाने वाले यूजर्स की शामत आने वाली है। दरअसल, Whatsapp एक ऐसे फीचर की टेस्टिंग कर रहा है जो फेक न्यूज पर रोक लगाएगा। कंपनी ने इस फीचर की शुरुआत बीटा वर्जन पर कर दी है।

Whatsapp ने जिस फीचर की शुरुआत की है, उसका नाम सस्पीशियस लिंक डिटेक्शन फीचर नाम है। इस फीचर की मदद से यूजर्स अन्य यूजर्स द्वारा भेजे गए किसी भी संदेहजनक लिंक की पहचान कर सकेंगे।

Whatsapp अगर किसी लिंक को संदेहजनक मानेगा तो फिर वह उसे संदेहजनक लिंक लिखकर देगा। इसके साथ ही लिंक के साथ वॉर्निंग भी दी जाएगी। एक वेबसाइट के अनुसार, व्हाट्सएप इन लिंक विश्लेषण स्थानीय तरीकों से करेगा। इस वजह से एप किसी भी डाटा को व्हाट्सएप के सर्वर पर नहीं भेजेगा।

व्हाट्सएप का यह फीचर 2.18.204 बीटा वर्जन पर लॉन्च कर दिया गया है। माना जा रहा है कि बीटा वर्जन पर लॉन्च करने के कुछ समय बाद कंपनी अन्य यूजर्स के लिए इस फीचर को पेश कर देगी।

गलत जानकारी के अलावा व्हाट्सएप के इस नए फीचर से यूजर्स को स्पैम और फ्रॉड लिंक को पहचानने में मदद मिलेगी। वहीं, कंपनी ने हाल ही में एक और फीचर को पेश किया था। फॉर्वड मैसेज वाले इस फीचर से यह पता लगने में आसानी होगी कि कौन सा मैसेज या लिंक फॉर्वड किया गया है।