डॉलर के मुकाबले 68 के पार पहुंचे रुपये को अभी संभलने में वक्त लग सकता. बैंकरों का कहना है कि इस हफ्ते रुपया डॉलर के मुकाबले 70 के स्तर पर पहुंच सकता है. उनके मुताबिक रुपये का 69.30 प्रति डॉलर पर पहुंचना एक अहम स्तर है. ऐसे में अगर रुपया इससे भी नीचे जाता है, तो यह टूटकर 70 रुपए प्रति डॉलर तक पहुंच जाएगा.

ये है वजह:

रुपये में आने वाले दिनों में भी दबाव बना रहेगा. इस दबाव के लिए डॉलर में लगातार आ रही मजबूती, विदेशी निवेश प्रवाह में कमी और कच्चे तेल की बढ़ रही कीमतें जिम्मेदार हैं. इनकी वजह से ही रुपया 70 के स्तर पर पहुंच सकता है.

बैंकरों के मुताबिक अगर रुपया 70 के स्तर पर पहुंच जाता है, तो यह भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के लिए अच्छी स्थ‍िति नहीं होगी. ऐसे में वह रुपये को संतुलित बनाए रखने के लिए हर संभव कदम उठा सकता है.

एक वरिष्ठ बैंक अध‍िकारी ने कहा कि जिस तेजी से कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी होती जा रही है. कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों के चलते चालू खाते के घाटे के बढ़ने की चिंता बढ़ गई है. इसके अलावा डॉलर की डिमांड लगातार बढ़ रही है. इस वजह से भी रुपया कमजोर होता जा रहा है.

बैंकरों ने कहा कि भारतीय रिजर्व बैंक रुपये को प्रति डॉलर के मुकाबले रुपये को 70 के स्तर पर नहीं पहुंचने देगा. केंद्रीय बैंक ने कहा कि है वह घरेलू मुद्रा के लिए कोई लक्ष्य नहीं रखता, लेक‍िन स्थ‍िति बिगड़ने पर बैंक हस्तक्षेप कर सकता है.