थाईलैंड: उत्तरी थाईलैंड में बीते दो सप्ताह से अधिक समय से गुफा में फंसे 13 लोगों में से चार बच्चों को रविवार को सुरक्षित बाहर निकालने के बाद सोमवार को बचाव अभियान के दूसरे दिन दो और बच्चों को निकाल लिया गया है. अभियान के प्रमुख ने कहा कि अभियान ‘‘उम्मीद से बेहतर’’ तरीक से चल रहा है. 11 से 16 वर्ष आयु के लड़कों और उनके कोच को पानी में गोता लगाकर बचाने के लिए जारी अभियान सुबह शुरू हुआ. विशेषज्ञ गोताखोर इस जटिल एवं खतरनाक अभियान के लिए उस जगह पर घुसे.

गौरतलब है कि थाईलैंड में बाढ़ के कारण गुफा के भीतर फंसी फुटबॉल टीम के नौ सदस्यों को बचाने के लिए अंतरराष्ट्रीय अभियान के प्रमुख ने कहा था कि उन्हें जल्द ही अच्छी खबर आने की उम्मीद है. बचाव अभियान के प्रमुख नरोंगसाक ओसोटानकोर्न ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘सभी उपकरण तैयार हैं. ऑक्सीजन की बोतलें तैयार हैं. अगले कुछ घंटे में हमारे पास अच्छी खबर होगी.’’

उत्तरी थाईलैंड की थाम लुआंग गुफा में दो सप्ताह से अधिक समय से फंसे 12 लड़कों और उनके सहायक फुटबॉल कोच को बाहर निकालने का काम रविवार(8 जुलाई) को शुरू किया गया. बचाव अभियान के प्रमुख ने यह जानकारी दी थी. ‘‘वाइल्ड बोर्स’’ नाम की यह फुटबॉल टीम गुफा में 23 जून से फंसी है. ये लोग अभ्यास के बाद वहां गए थे और भारी मानसूनी बारिश की वजह से गुफा में काफी पानी भर जाने के बाद वहां फंस गए. इस घटना ने समूचे थाईलैंड और दुनियाभर का ध्यान अपनी तरफ खींचा है. अधिकारी लगातार लड़कों और उनके कोच को बाहर निकालने के लिए संघर्ष कर रहे थे.

Chiang Rai: #Visuals from outside the hospital where six boys of a soccer team rescued from flooded Thai cave are undergoing treatment. #Thailand pic.twitter.com/MhzbOOmy1e

— ANI (@ANI) July 8, 2018

लड़के किसी भी चुनौती का सामना करने को तैयार हैं

बचाव अभियान के प्रमुख नारोंगसाक असोतानाकोर्न ने पत्रकारों से कहा, ‘‘ आज बच्चों को बाहर निकालने के काम को अंजाम दिया जाएगा. लड़के किसी भी चुनौती का सामना करने को तैयार हैं.’’ उन्होंने कहा कि स्थानीय समयानुसार रात नौ बजे पहले बच्चे को गुफा से बाहर निकाले जाने की संभावना है. इस पूरे कार्य में करीब 11 घंटे का समय लगेगा.

अधिकारियों से आज सुबह मीडिया से कहा था कि वे गुफा के पास स्थित शिविर के पास की जगह को खाली कर दें. उन्होंने मीडियाकर्मियों को वहां से जाने को कहा जिससे ‘‘ पीड़ितों ’’ की मदद की जा सके. पुलिस ने इस जगह लाउडस्पीकर से घोषणा की, ‘‘सभी लोग जो अभियान से जुड़े नहीं हैं तत्काल इस इलाके से बाहर चले जाएं.’’
गुफा में कैसे पहुंचे बच्चे

बता दें कि, यह सभी बच्चे एक मैच पूरा होने के बाद गुफा में घूमने गए थे. ये सभी अंडर-16 फुटबॉल टीम के खिलाड़ी हैं, जिनकी उम्र 11 से 16 साल के बीच है. 12 बच्चों के साथ इस गुफा में उनके कोच भी मौजूद हैं. यह गुफा 10 किलोमीटर लंबी है बारिश के मौसम में ये गुफा जुलाई से नवंबर के बीच बंद कर दी जाती है. बताया जा रहा है कि जिस वक्त बच्चे और उनके कोच गुफा में गए थे, उस वक्त वहां पर बारिश होने लगी, जिसके कारण वह वहां पर फंस गए.