नई दिल्लीः कल उत्तर प्रदेश की बागपत जिला जेल में पूर्वांचल के डॉन प्रेम प्रकाश सिंह उर्फ मुन्ना बजरंगी की गोली मारकर हत्या कर दी गई. हत्या के आरोपी बताए जा रहे गैंगस्टर सुनील राठी ने मुन्ना को 10 गोलियां मारीं थीं जिसके बाद मुन्ना बजरंगी की मौके पर ही मौत हो गई थी. अवैध वसूली के आरोप में मुन्ना बजरंगी को झांसी जेल से बागपत जेल लाया गया था और कोर्ट में उसकी पेशी होनी थी. लेकिन उसके पहले ही उसे मार दिया गया. हत्या की वजह अभी सामने नहीं आ पाई है.

मुन्ना बजरंगी की पत्नी सीमा सिंह ने सीबीआई जांच की मांग की है. सीमा सिंह ने कहा कि 29 जून को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से अपील की थी कि उनके पति की रक्षा की जाए लेकिन इसपर ध्यान नहीं दिया गया. सीमा सिंह ने केंद्रीय रेलमंत्री मनोज सिन्हा और पूर्व सांसद धनंजय सिंह समेत कई बड़े नेताओं पर उसके पति की हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाया है. सीमा का कहना है कि पूर्व सांसद धनंजय सिंह के साथ ही मनोज सिन्हा और पूर्व विधायक कृष्णानंद राय की पत्नी अलका राय ने कई लोगों के साथ मिलकर उसके पति की हत्या का षड्यंत्र रचा.