लखनऊ: उत्तर प्रदेश में कौन सुरक्षित है? सवाल इसलिए क्योंकि, उत्तर प्रदेश पुलिस ये दावें करती है कि प्रदेश में बदमाशों के खिलाफ शिकंजा कसा गया है. यूपी पुलिस के इस दावों की पोल तब खुल जाती है, जब बदमाश पुलिस को ही निशाना बना लेते हैं. लखनऊ के मानकनगर में बदमाश ने दरोगा को निशाना बना और सरकारी पिस्टल लूट कर फरार हो गया. लखनऊ के जिस इलाके में ये वारदात हुई है, वो शहर का अति व्यस्त अवध चौराहे में से एक है. ऐसे में दारोगा से साथ सरेआम हुई लूट राजधानी पुलिस की सक्रियता का हाल बयां कर रही है.

Lucknow: Man snatched pistol of Inspector Anjani Kumar Pandey and fled the spot yesterday, was later arrested by the police pic.twitter.com/kPbAEDANTX

— ANI UP (@ANINewsUP) July 10, 2018

घटना के बाद पुलिस ने बताया कि आलमबाग में अवध चौराहे पर लगे जाम के दौरान दारोगा की सर्विस पिस्टल को बाइक सवार बदमाश ने लूट ली. वारदात को अंजाम देकर बदमाश चौराहे से सौ मीटर दूर हरदोई रोड पर खड़ी बाइक पर सवार होकर भाग निकला. बताया जा रहा है कि जिस दारोगा के साथ ये घटना हुई. वो दारोगा वीआईपी की सुरक्षा में तैनात हैं. पुलिस अब बदमाशों की तलाशी के लिए मानकनगर पुलिस घटनास्थल के आस पास लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है.

बताया जा रहा है कि पीड़ित दारोगा पारा थाने के पास बाइक सवार से लिफ्ट लेकर अवध चौराहे पर पहुंचे. जाम लगा होने की वजह से बाइक की रफ्तार धीमी हुई. इस बीच पीछे से बदमाश पैदल पहुंचा और दारोगा की कमर में बिना कवर के लगी पिस्टल खींच कर भाग निकला.

आपको बता दें कि बागपत जेल में मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद एक बार​ फिर उत्तर प्रदेश की कानून-व्यवस्था पर सवाल खड़े होने लगे है. 7 जुलाई को लखनऊ यूनिवर्सिटी में प्रॉक्टर और शिक्षकों से मारपीट के मामले में सीएम योगी के निर्देश के बाद लखनऊ के एसएसपी दीपक कुमार को हटा दिया गया था. यूपी पुलिस लगातार प्रदेश में अपराधियों को धर-पकड़ के ताबड़तोड़ एनकाउंटर करा रही है. ऐसे में दिनदहाड़े हुई ये वारदात सवाल खड़े कर रही है.