मुंबई : महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई बीते पांच दिन से हो रही लगातार बारिश से बेहाल है. यहां चप्पे-चप्पे पर जल भराव है. हालांकि, मंगलवार रात से बारिश कुछ इलाकों में थमी हुई है. इसके बावजूद लोग परेशानियां झेल रहे हैं. वेस्टर्न लाइन भी जल भराव के कारण शुरू नहीं हो पाई है. मुंबई से बाहर जाने वाली कई एक्सप्रेस और मेल ट्रेन रद्द कर दी गई हैं. वसई, नालासोपारा और विरार के ट्रैक पर टेस्ट किया जा रहा, लेकिन पानी भरे होने के कारण ट्रेन चल नहीं पा रही है.

रेलवे के अलावा सड़कों पर भी लोग बेहाल हैं. मलाड और कांदिवली के बीच वेस्टर्न एक्सप्रेस हाईवे पर लंबा ट्रैफिक जाम लगा हुआ है. कल रात से इस रूट पर गाड़ियां फंसी हुई हैं. वहीं, वसई में तो हालात बेहद खराब है. यहां कल रात से बारिश थमी हुई है. इसके बावजूद यहां कई इलाके जलमग्न हैं. अधिकतर इलाकों में तो बिजली भी नहीं है.

चर्चगेट- भायंदर के बीच ट्रैक पर पानी का लेवल कम होने से लोकल सेवा शुरु कर दी गई है. हालांकि, ट्रेन को धीमी गति से चलाया जा रहा है. बारिश की चेतावनी को देखते हुए एनडीआरएफ और नेवी को अलर्ट पर रखा गया है. लंबी दूरी की मुंबई आने वाली या जाने वाली कई ट्रेनें मुंबई-गुजरात और मुंबई-नई दिल्ली के रास्ते चलाई गईं.

पालघर से सटे वसई में बाढ़ में 400 से ज्यादा लोग दो दिन से फंसे हैं. यहां राहत-बचाव काम के लिए एनडीआरएफ की एक कंपनी तैनात की गई है. फंसे लोगों ने घरों से निकलने से मना कर दिया. मुंबई के अलावा ठाणे, पालघर, रायगढ़ में भी भारी बारिश हुई है. मौसम विभाग ने मुंबई सहित महाराष्ट्र के कई जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है. मुंबई में सोमवार को औसत से पांच गुना ज्यादा बारिश हुई थी.