पेरिसः फ्रांस के फीफा विश्वकप सेमीफाइनल में जीतने की घोषणा होते ही नाइस में मंगलवार रात को उत्साहित प्रशंसकों की आतिशबाजी से अचानक भगदड़ मच गई जिसमें 27 से अधिक लोगों के घायल होने की खबर है। ज्यादातर लोगों को कांच टूटने से चोट लगी और कई भगदड़ के दौरान गिरकर चोटिल हो गए।  

IS आतंकी हमले की दिलाई याद

स्थानीय मीडिया में घटनास्थल की तस्वीरें दिखाई जा रही हैं जिनमें स्तब्ध खड़े राहगीर, पलटी हुई टेबल और कुर्सियां, फर्श पर कांच के टुकड़े नजर आ रहे हैं।  इस घटना ने दो वर्ष पहले शहर में हुए आईएस आतंकवादियों के हमले की यादों को ताजा कर दिया है जब एक रेफ्रीजेरेट ट्रक को आतंकवादी हमलावर ने बासिले डे के दिन भीड़ पर चढ़ा दिया था जिसमें कुचले जाने से 86 लोगों की मौत हो गई थी। प्रशंसकों को आतिशबाजी से कुछ आशंका उत्पन्न हुई थी जिसके चलते भगदड़ मच गई।

आतिशबाजी के दौरान डर गए थे लोग

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार कि आतिशबाजी के दौरान लोग काफी डर गये थे और इधर उधर भागने लगे जिससे कई लोगों को चोटें आयी हैं। इनमें अधिकतर लोगों को कांच लगने से चोट लगी हैं। इस घटना को छोड़ दिया जाए तो फ्रांस की राजधानी पेरिस सहित बाकी शहरों में जमकर जश्न मना। अपने देश के ध्वज में लिपटे प्रशंसकों ने सड़कों पर जमा होकर कारों के होर्न बजाए और जश्न मनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

सेन नदी के तट पर सिटी हॉल के बाहर फैन जोन में समर्थकों ने एक दूसरे को गले लगाया और हवा में रंग बिरंगा धुआं छोड़ा। 41 साल के जाइल्स रोव ने कहा, ''मुझे तो यकीन ही नहीं हो रहा है। मैं सातवें आसमान पर हूं। विश्वकप शुरू होने से पहले किसी को यकीन नहीं था कि यह टीम फाइनल में पहुंच पाएगी। लेकिन इस टीम ने आश्चर्यजनक काम किया है। यह टीम मुझे 1998 की टीम की याद दिलाती है जिसने ब्राजील को हराकर विश्वकप जीता था।''