लाहोर : पूर्व पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ अपनी बेटी मरियम नवाज के साथ शुक्रवार को अपने देश लौटेंगे. यहां पर उन्हें एयरपोर्ट से ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

नवाज की वापसी के मद्देनजर लाहौर एयरपोर्ट पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है. नवाज की वापसी के समय लाहौर एयरपोर्ट के एंट्री और एग्जिट पॉइंट सील कर दिए जाएंगे. नवाज और मरियम को एयरपोर्ट से ही गिरफ्तार कर हवाई मार्ग से रावलपिंडी की आदियाला जेल ले जाया जाएगा.

नवाज की वापसी से पहले पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (PML-N) के कम से कम 100 नेताओं और कार्यतकर्ताओं को बुधवार रात ही हिरासत में ले लिया गया. सबसे ज्यादा गिरफ्तारियां लाहौर से हुई हैं.

अगर रावलपिंडी की जेल में सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता नहीं हुई तो नेशनल अकाउंटैबिलिटी बोर्ड की टीम ने नवाज और मरियम के लिए दूसरे जेलों का विकल्प भी रखा है. उम्मीद है कि नवाज और मरियम शुक्रवार शाम 4 बजे तक पाकिस्तान लौट आएंगे.

वहीं, नवाज शरीफ की पार्टी PML-N ने कहा है कि अपने नेता का स्वागत करने के लिए बड़ी संख्या में कार्यकर्ता लाहौर एयरपोर्ट पहुंचेंगे. सुरक्षा व्यवस्था को संभालने के लिए लाहौर में जगह-जगह सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं.

रावलपिंडी की जिस आदियाला जेल में नवाज और मरियम को रखा जाना है , वहां भी तैयारियां की जा रही हैं. बुधवार को इस जेल की बैरकों में सघन तलाशी अभियान चलाया गया.

आपको बता दें कि स्वदेश लौटने से पहले बुधवार को नवाज शरीफ ने लंदन में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पाकिस्तानी सेना के खिलाफ बयान दिया था. नवाज ने सेना पर आगामी आम चुनावों में दखल देने का आरोप लगाया था. वह पाकिस्तानी सेना के इंटर-सर्विस पब्लिक रिलेशन के डायरेक्टर जनरल आसिफ गफूर की प्रेस कॉन्फ्रेंस का जवाब दे रहे थे. गफूर ने कहा था कि सेना का चुनावों में कोई दखल नहीं है.

वहीं, नवाज ने कहा कि उनके कार्यकर्ताओं पर पार्टी छोड़ने का दबाव बनाया जा रहा है. सेना की ओर से चुनावों में उनकी पार्टी के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है.