आज के समय में जहां संयुक्त परिवार का अस्तित्व खोता जा रहा है। वहीं एक शख्स के परिवार के 346 सदस्य एक साथ रहते हैं। यह परिवार यूक्रेन में रहता है। इस परिवार के मुखिया चाहते हैं कि गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में उन्हें दुनिया के सबसे बड़े परिवार के तौर पर दर्ज किया जाए। इस शख्स का नाम है पावेल सेमेनयुक जोकि 87 साल के हैं। उनका कहना है कि वह हमेशा से ही एक बड़ा परिवार चाहते थे और वह खुश हैं कि उनकी पत्नी ने 13 बच्चों को जन्म दिया।

बहुत सारी शादी और बच्चों के जन्म के बाद सेमेनयुक के परिवार में इस समय 346 सदस्य हैं, सबसे युवा सदस्य केवल दो हफ्ते का है। यह परिवार दक्षिण यूक्रेन के ओडेशा ओब्लास्ट क्षेत्र में स्थित डोबरोस्लाव गांव में रहता है। पावेल हमेशा से 13 बच्चों के पिता होने को अपनी खुशकिस्मती मानते थे लेकिन अब उनके 127 पोते-पोतियां, 203 पड़पोते-पोतियां और 3 पड़-पड़ पोते-पोतियां हैं।
सेवानिवृत्त निर्माणकर्मी पावेल का कहना है कि हमारा एक बड़ा और खुशहाल परिवार है। उन्होंने कहा- 'मुझे बड़े बच्चों के नाम याद हैं लेकिन छोटे बच्चों के नाम याद रखने में मुश्किल होती है। कई बार मैं उनके नाम भूल जाता हूं।'

जब भी परिवार का कोई सदस्य शादी करता है तो दूसरे नवविवाहित जोड़े के लिए गांव में एक नया घर बना देते हैं। इसके लिए उन्हें बाहरी व्यक्ति से सहायता लेने की जरुरत नहीं पड़ती क्योंकि पावेल के ज्यादातर पोते और पड़पोते भी निर्माण व्यवसाय में हैं। सेमेनयुक के परिवार के 30 बच्चों ने स्थानीय स्कूल में पढ़ाई की है और हर जन्मदिन, शादी समारोह पूरे परिवार के लिए बहुत बड़ा कार्यक्रम होता है। पावेल की 66 साल की बेटी वीरा सेमेनयुक ने कहा, 'हम अपने जन्मदिन और शादियों का जश्न मनाने के लिए विशाल बर्तनों में भोजन पकाते हैं। महिलाएं हमेशा एक-दूसरे की मदद करती हैं।' कुछ दिनों पहले ही सेमेनयुक के परिवार को यूक्रेन के सबसे बड़े परिवार के तौर पर मान्यता मिली है। उनके परिवार को स्थानीय नेशनल रजिस्टर ऑफ रिकॉर्ड्स में पंजीकृत करने के बाद गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स के पास भेजा गया है।

नेशनल रजिस्टर ऑफ रिकॉर्ड्स के लाना वेट्रोवा ने कहा, 'यह बड़ा अनोखा परिवार है। अभी तक दुनिया के सबसे बड़े परिवार में 192 सदस्य हैं। भारत के इस परिवार का नाम गिनिज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज है। सेमेनयुक के पास उस रिकॉर्ड को तोड़ने का अच्छा मौका है।'