इस्लामाबाद : पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनकी बेटी मरियम नवाज की आज (शुक्रवार को) गिरफ्तारी हो सकती है. पनामा पेपर्स घोटाले के बाद से ही देश से बाहर चल रहे नवाज शरीफ आज अपने वतन लौट रहे हैं, कयास लगाए जा रहे हैं जिसके बाद उनकी गिरफ्तारी हो सकती है. नवाज शरीफ और उनकी बेटी की बेटी की गिरफ्तारी की खबरों के बाद से ही पूरे पाकिस्तान में तनाव का माहौल है. देश में बढ़ते तनाव की स्थिति को देखते हुए प्रशासन ने पहले ही नेशनल एकाउंटेबिलिटी ब्यूरो (नैब) ने दो हेलीकॉप्टर की व्यवस्था की है, जिससे उन्हें एयरपोर्ट के भीतर ही गिरफ्तार कर जेल भेजा जा सके.

पाकिस्तान के स्थानीय न्यूज रिपोर्ट्स के मुताबिक, पाकिस्तान प्रशासन ने एक हेलीकॉप्टर को लाहौर तो दूसरा इस्लामाबाद हवाईअड्डे पर तैनात किया है, ताकि दोनों में से किसी भी हवाईअड्डे पर उनकी वापसी हो तो उनकी गिरफ्तारी की जा सके.

एक तरफ नवाज शरीफ पर गिरफ्तारी का खतरा मंडरा रहा है, तो दूसरी तरफ उनकी राजनीतिक पार्टी पीएमएल-एन उनके स्वागत में पंजाब प्रांत के लाहौर में एक बड़ी रैली करने जा रही है. देश में बढ़े हुए तनाव और रैली न निकली जा सके, इसके लिए एहतियात के दौरान पाकिस्तान की स्थानीय पुलिस ने 100 से ज्यादा नेताओं और कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया है.

डॉन की एक रिपोर्ट के मुताबिक, नवाज शरीफ और मरियम के लाहौर पहुंचते ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा. अखबार ने गृह मंत्रालय के सूत्रों के हवाले से लिखा है कि नवाज शरीफ को पूर्व संसद सदस्य होने के नाते 'बेहतर वर्ग' श्रेणी के जेल में रखा जाएगा. लेकिन अगर मरियम जेल में 'लग्जरी सेवाएं' चाहती हैं तो उन्हें पहले यह साबित करना होगा कि वह सालाना 6 लाख या फिर उससे ज्यादा का इनकम टैक्स भरती हैं.  

अपनी बेटी मरियम नवाज के साथ संवाददाताओं को संबोधित करते हुए पीएमएल-एन प्रमुख ने कहा था कि वह अपनी पत्नी को फिर से आंखे खोलते देखने की कामना करते हैं और राष्ट्र से उनके शीघ्र स्वस्थ होने के लिए दुआ करने का अनुरोध करते हैं.

पाकिस्तान की भ्रष्टाचार विरोधी अदालत ने पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनकी बेटी मरियम नवाज को भ्रष्टाचार में संलिप्त पाया था. कोर्ट ने नवाज शरीफ को एवेनफील्ड रेफरेंस केस में कोर्ट ने 10 साल की सजा सुनाई है, वहीं बेटी मरियम को 7 साल की सजा सुनाई गई है.