अहमदाबाद: पूर्व विधायक जयंती भानुशाली ने बलात्कार का आरोप लगने के बाद गुजरात बीजेपी के उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है. कच्छ जिले के 53 वर्षीय नेता ने राज्य बीजेपी अध्यक्ष जीतू वघानी को भेजे अपने इस्तीफे में इस आरोप से इनकार करते हुए दावा किया है कि उनकी छवि को खराब करने की साजिश हो रही है. बीजेपी ने एक बयान में दावा किया कि राज्य बीजेपी अध्यक्ष ने भानुशाली का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है.

भानुशाली ने अपने इस्तीफा पत्र में कहा, "ऐसा लगता है कि पुलिस को दिया गया आवेदन मेरी छवि खराब करने की साजिश है. मेरे और मेरे परिवार के ऊपर लगाए गए आरोप आधारहीन है. जब तक मैं अपने ऊपर लगे आरोपों से मुक्त होकर बाहर नहीं निकल जाता हूं, मैं पार्टी से अपील करता हूं कि वह मुझे जिम्मेदारियों से मुक्त करे."

सूरत की रहने वाली एक युवती ने पुलिस आयुक्त कार्यालय में 10 जुलाई को एक आवेदन जमा किया था जिसमें उसने भानुशाली के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज करने की मांग की है. सूरत के पुलिस आयुक्त सतीश शर्मा ने बताया कि मामले में अब तक प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई है.

युवती ने भानुशाली पर आरोप लगाया है कि उसने पिछले नवंबर से अब तक उसके साथ कई बार दुष्कर्म किया. महिला का दावा है कि भानुशाली ने उससे वादा किया था कि वह प्रतिष्ठित फैशन डिजाइनिंग कॉलेज में उसका दाखिला कराएंगे.

भानुशाली ने 2007 से 2012 तक कच्छ विधानसभा सीट से विधायक रहे हैं. हालांकि मामले में अभी तक कोई एफआईआर दर्ज नहीं की गई है. महिला ने यह भी आरोप लगाया कि भानुशाली ने वीडियो क्लिक बनाकर उसे इंटरनेट पर वायरल करने की धमकी दी थी.