22 दिनों के भीतर ऐसा तीसरी बार हो रहा है जब राजस्थान में इंटरनेट कर्फ्यू लगाया गया है. ये कर्फ्यू राजस्थान लोक सेवा द्वारा आयोजित आरएएस की परीक्षा के लिए लगाया गया है. परीक्षा के चलते मोबाइल इंटरनेट सर्विस को 4 घंटे के लिए ब्लॉक किया गया है जिसमें जयपुर, भरतपुर, जोधपुर और अजमेर जैसे शहर शामिल हैं.

14 जुलाई और 15 जुलाई को भी राज्य के कुछ शहरों में इंटरनेट सर्विस को बंद किया गया था. हाईटेक नकल गिरोह पर लगाम कसने के लिए जयपुर शहर में इंटरनेट की सुविधा पर प्रतिबंध लगाया गया है. यह सुविधा सुबह 9 बजे से दोपहर 1 बजे तक बंद रहेगी. परीक्षा के बाद इंटरनेट खुल जाएगा. इसके लिए संभागीय आयुक्त कार्यालय से आदेश जारी हुए है.

आरएएस परीक्षा आज सुबह से शुरू हुई है. इस परीक्षा में 980 पद और आरटीएस के 37 पदों के लिए भर्ती होनी है. परीक्षा के लिए करीब 5 लाख से ज्यादा लोगों ने आवेदन किया है. वहीं 1000 से ज्यादा पदों के लिए हो रही आरएएस प्री परीक्षा के लिए प्रदेश में 1454 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं.

अजमेर के डिविजनल कमिश्नर के के शर्मा ने कहा कि इंटरनेट की सर्विस को अजमेर टोंक, भिलवारा, नागौर, बीवर और किशनगढ जैसे शहरों में बंद किया गया है. वहीं सूत्रों के हवाले से ये भी कहा जा रहा है कि सरकार के पास अधिक जैमर्स न होने के कारण मोबाइल इंटरनेट सर्विस पर ब्लैंकेट बैन लगाया गया है.

एक अधिकारी ने कहा कि इस परीक्षा में कई लाख छात्र हिस्सा ले रहे हैं और हम नहीं चाहते कि सिर्फ कुछ लोगों की वजह से इन छात्रों का करियर खराब हो इसलिए हमने ऐसा कदम उठाया है.