गलत खान-पान और लाइफस्टाइल के कारण महिलाओं में बहुत सी बीमारियों का खतरा बढ़ता जा रहा है। महिलाएं पुरूषों के मुकाबले शारीरिक रूप से कमजोर मानी जाती हैं। इसलिए उन्हें बीमारियों का खतरा भी सबसे ज्यादा होता है। आज हम आपको कुछ ऐसी बीमारियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जोकि पुरूषों के मुकाबले औरतों को तेजी से अपनी शिकार बनाती है। वैसे तो महिलाओं को यह बीमारियां ज्यादातर मेनोपॉज के बाद होती है लेकिन फिर उन्हें पहले ही सचेत रहना चाहिए। इतना ही नहीं, बीमारियों से बचने के लिए महिलाओं को समय-समय पर टेस्ट करवाने के सही डाइट भी लेनी चाहिए। आइए जानते हैं ऐसी ही कुछ बीमारियां जो पुरूषों के मुकाबले महिलाओं को तेजी से अपना शिकार बनाती है।

1. दिल से जुड़ी बीमारियां
पुरूषों के मुकाबले महिलाओं में हार्ट डिसीज की समस्या ज्यादा देखने को मिलती है। दिल के रोगों के साथ-साथ महिलाओं में हार्ट अटैक का खतरा भी बढ़ता जा रहा है।

2. ब्रैस्ट कैंसर
ब्रेस्ट कैंसर का खतरा आजकल पुरूषों में भी बढ़ता जा रहा है लेकिन महिलाएं इसकी चपेट में ज्यादा तेजी से आती हैं। इतना ही नहीं, महिलाओं में ब्रैस्ट कैंसर की बीमारी कम उम्र में भी देखने को मिल रही है। इसलिए इसके लक्षण दिखने पर तुरंत जांच करवाएं।

3. डायबिटीज
डायबिटीज यानी मधुमेह की समस्या से आज के समय में कई लोग पीड़ित हैं, खासकर महिलाएं। गलत खान-पान से होने वाली इस समस्या में शरीर में इंसुलिन बनना बंद हो जाता है, जिससे पेंक्रियाज ग्रंथी सही तरीके से काम करना बंद कर देती है। इस बीमारी से बचने के लिए अपने लाइफस्टाइल में सुधार करें।

4. गठिया
शारीरिक कमजोरी, एक्सरसाइज न करना और खान-पान में गड़बड़ी के कारण गठिया रोग भी पुरूषों के मुकाबले महिलाओं को तेजी से अपनी चपेट में लेता है। इतना ही नहीं, रूमेटाइड अर्थराइटिस और ऑस्टियोपोरोसिस रोग भी पुरूषों के मुकाबले औरतों में ज्यादा देखने को मिलता है।

5. सर्वाइकल कैंसर
सर्वाइकल कैंसर एक ऐसी बीमारी है जो महिलाओं को किसी भी उम्र में हो सकती है। इसे फाइब्राइड,रसौली या फिर ट्यूमर के नाम से भी जाना जाता है।  35 साल से ज्यादा उम्र की महिलाओं को इसका खतरा सबसे ज्यादा होता है। औरतों के लापरवाही बरतने के कारण उनमें यह कैंसर तेजी से बढ़ता जा रहा है।

6. वल्वर कैंसर
यह भी एक गंभीर रोग है। यह कैंसर महिलाओं के प्राइवेट पार्ट के बाहरी हिस्से में होता है। यूरीन पास करते समय जलन, खुजली या फिर ब्लीडिंग होना आदि इसके संकेत हो सकते हैं। इस तरह के लक्षण दिखने पर आपको तुरंत चेकअप करवाना चाहिए।