लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता शलभ मणि त्रिपाठी ने कहा कि केंद्र सरकार और राज्य सरकार की तरफ से गरीबों, वंचितों, पिछड़ों और दलितों की मदद और उनके विकास के लिए चलाई जा रही विभिन्न लोक कल्याणकारी योजनाओं को जमीनी स्तर तक पहुंचाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोक कल्याण मित्रों की तैनाती का सराहनीय फैसला लिया है. लोक कल्याण मित्र ब्लॉक स्तर पर तैनात किए जाएंगे. इनका काम आम लोगों को सरकारी योजनाओं की जानकारी देने के साथ ही साथ इन योजनाओं का लाभ लेने में आम लोगों की मदद करना होगा.

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार गरीबों, वंचितों को लेकर संवेदनशील है और चाहती है कि सरकारी योजनाएं जन-जन तक पहुंचे ताकि प्रदेश के विकास के साथ ही साथ समाज के हर हिस्से की भी तरक्की हो सके. यह तभी हो पाएगा जब जरूरतमंद लोग सरकारी योजनाओं का ज्यादा से ज्यादा लाभ उठा सकें. इस दिशा में लोक कल्याण मित्रों  की तैनाती एक अहम कदम है और इसके लिए मुख्यमंत्री और उनकी पूरी कैबिनेट बधाई के पात्र

प्रदेश प्रवक्ता शलभ मणि त्रिपाठी ने कहा कि केंद्र में पीएम मोदी और प्रदेश में सीएम योगी की सरकार गरीबों के लिए तमाम जन कल्याणकारी योजनाएं लेकर आई है. सरकार का मकसद खासतौर पर पिछड़ों, दलितों, वंचितों और गरीबों की मदद करने का है. लेकिन कई क्षेत्रों में जागरूकता के अभाव के चलते बहुत से लोग योजनाओं का लाभ पूरी तरह नहीं ले पाते हैं. ऐसे में प्रदेश सरकार ने कैबिनेट के जरिए लोक कल्याण मित्रों की तैनाती करने का शानदार फैसला लिया है.

त्रिपाठी ने कहा कि लोक कल्याण मित्रों की तैनाती 2 सालों के लिए की जाएगी. इन्हें प्रदेश के हर ब्लॉक पर तैनात किया जाएगा. लोक कल्याण मित्र सरकारी योजनाओं के मुताबिक, जरूरतमंद लोगों की न सिर्फ पहचान करेंगे, बल्कि उनके लिए आई योजनाओं की जानकारी भी देंगे. इतना ही नहीं, इन योजनाओं को पाने के लिए लोक कल्याण मित्र पात्र लोगों को आवेदन कराने में और योजनाओं का लाभ उठाने में भी उनकी मदद करेंगे. सरकार वक्त-वक्त पर इन लोक कल्याण मित्रों से योजनाओं को लेकर फीडबैक भी लेगी. इससे हर जरूरतमंद को सरकारी योजनाओं का लाभ मिलेगा
 
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, 822 लोक कल्याण मित्रों की तैनाती की जाएगी. इनका मानदेय 25000 रुपए और भत्ता 5000 रुपए होगा. प्रदेश के 822 ब्लॉक में अक्टूबर से इन पदों पर तैनाती होगी.