न्यूयॉर्क : राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप जिस चेन आव्रजन या पारिवारिक आव्रजन का पुरजोर विरोध करते हैं, अमेरिका की उसी नीति का लाभ लेकर उनके स्लोवानियाई सास-ससुर ने देश की नागरिकता पायी है. अमेरिका की चेन आव्रजन या पारिवारिक आव्रजन नीति के तहत कोई भी व्यस्क अमेरिकी नागरिक अपने रिश्तेदारों के लिए अमेरिकी नागरिकता प्राप्त कर सकता है.

न्यूयॉर्क टाइम्स में प्रकाशित खबर के अनुसार, अमेरिका की प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप के माता-पिता एमालिजा और विक्टर कनाव्स को न्यूयॉर्क के संघीय आव्रजन अदालत में एक निजी समारोह के दौरान अमेरिका की नागरिकता दी गई.

इससे पहले मेलानिया के माता-पिता उनके द्वारा स्पॉसर किये गये ग्रीन कार्ड के सहारे अमेरिका में रह रहे थे. उनके वकील माइकल वाइल्डस ने अखबार को यह जानकारी दी है. वाइल्डस के अनुसार, एक बार ग्रीन कार्ड मिलने के बाद वह पात्रता के आधार पर नागरिकता के लिए आवेदन कर सकते हैं. यह पूछने पर कि क्या कनाव्स ने चेन आव्रजन के माध्यम से नागरिकता प्राप्त की, वाइल्डस ने कहा, ‘‘मुझे लगता है. यह बेहद गंदी.... बहुत गंदी दुनिया है.’’

गौरतलब है कि ट्रंप लगातार चेन आव्रजन या पारिवारिक आव्रजन प्रणाली का विरोध करते रहे हैं. यहां तक कि नवंबर में उन्होंने ट्वीट किया था कि ‘‘चेन आव्रजन अब बंद होना चाहिए. कुछ लोग आते हैं, फिर वह अपने साथ पूरे परिवार को ले आते हैं, जो बहुत खराब है. यह स्वीकार्य नहीं है.’’