पिछले दो सालों के दौरान फेसबुक के विजिटर्स में काफी ज्यादा गिरावट आई है. इसका सीधा फायदा वीडियो ब्लॉग‍िंग साइट यूट्यूब को मिल सकता है. एक नये अध्ययन के मुताबिक जिस तेजी से फेसबुक के विज‍िटर्स घट रहे हैं, उसी तेजी से यूट्यूब दूसरे पायदान पर जगह बनाने में कामयाब हो सकता है.

सीएनबीसी ने मार्केट रिसर्च फर्म सिमिलर वेब के अध्ययन का हवाला देते हुए कहा कि फेसबुक ऐप का ट्रैफ‍िक बढ़ तो रहा है, लेक‍िन यह उसे दूसरे पायदान पर रखने में कामयाब नहीं होगा.

अध्ययन के मुताबिक पिछले दो साल के दौरान फेसबुक के मंथली पेज विजिट्स 8.5 अरब से घट कर 4.7 अरब पर आ गए हैं. पिछले कई सालों में अमेरिका में सबसे अधिक ट्रैफिक हासिल करने वाली पांच वेबसाइट्स की सूची में गूगल, फेसबुक, यूट्यूब, याहू और अमेजॉन है.

यूट्यूब जो कि लोगों को वीडियो अपलोड कर कमाई का साधन देता है. वीड‍ियो की बढ़ती डिमांड के बूते यूट्यूब के मंथली यूजर भी बढ़ रहे हैं. इस तरह उसके मंथली पेज विजिट्स धीरे-धीरे फेसबुक से ज्यादा हो रहे हैं.

बता दें कि यूट्यूब हर किसी को फ्री में चैनल बनाकर ऑरीजनल वीडियो डाल कर कमाई का मौका देता है. कई यूट्यूब हर साल इस वीडियो ब्लॉगिंग प्लैटफॉर्म से करोड़ रुपये कमाते हैं. बता दें कि यूट्यूब गूगल की पैरेंट कंपनी अल्फाबेट की ही एक कंपनी है.