नई दिल्‍ली: राजस्‍थान की मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे द्वारा की गई व्‍यक्तिगत टिप्‍पणियों से कांग्रेस प्रदेश अध्‍यक्ष सचिन पायलट बेहद नाराज हैं. उन्‍होंने एक बार फिर मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे पर निशाना साधते हुए कहा है कि वे व्‍यक्तिगत टिप्‍पणियां करने की बजाय कांग्रेस द्वारा पूछे गए सवालों का जवाब दें. उन्‍होंने कहा कि राजस्‍थान की आम जनता से जुड़ा एक सवाल रोजाना हम मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे से पूछ रहे हैं. मुख्‍यमंत्री इन सवालों का जवाब देने की बजाय व्‍यक्तिगत टिप्‍पणियों पर उतर आई हैं. उनकी इन टिप्‍पणियों का जवाब आगामी चुनावों में जनता अपने मत से देगी. राजस्‍थान विधान सभा चुनाव 2018 में अब बीजेपी की विदाई पूरी तरह से पक्‍की हो चुकी है.

प्रदेश कांग्रेस अध्‍यक्ष सचिन पायलट ने कहा कि मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे जहां तक राजस्‍थान में कांग्रेस के जनाधार का बात कर रही हैं तो इसका जवाब सूबे की जनता बीते उपचुनावों में दे चुकी है. राजस्‍थान की अजमेर और अलवर संसदीय सीट पर हुए उपचुनावों में बीजेपी को करारी हार का सामना करना पड़ा था. अब सूबे की जनता राजस्‍थान विधान सभा चुनाव 2018 में बीजेपी की विदाई कर उनकी टिप्‍पणियों का करारा जवाब देगी. उन्‍होंने कहा कि सूबे में जब से बीजेपी की सरकार बनी है, तब से सरकार की कार्यप्रणाली को लेकर जनता के बीच गहरा आक्रोश व्‍याप्‍त है. बीजेपी ने जिन वादों के जरिए राजस्‍थान की सत्‍ता हासिल की थी, अब उन्‍हीं वादों को दरकिनार कर जनविरोधी नीतियों के जरिए जनता  का उत्‍पीड़न कर रही है.

सचिन पायलट ने कहा कि लोकतंत्र में सभी को अपना विरोध दर्ज कराने का हक है, लेकिन मौजूदा वसुंधरा राजे सरकार में विरोध का सामना करने की छमता नहीं है. बीते समय, राजस्‍थान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभा में काले झंडे दिखाने  वाले संविदा कर्मियों का उत्‍पीड़न राज्‍य सरकार ने पुलिस के जरिए कराया था. राज्‍य सरकार का यह उत्‍पीड़न सिर्फ विरोध करने वाले संविदा कर्मियों तक सीमित नहीं था, बल्कि संविदा कर्मियों के परिजनों को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया था. राज्‍य सरकार के इशारे पर पुलिस की इस कार्रवाई से पता चलता है कि राज्‍य में बीजेपी सरकार को लेकर जनता में कितना आक्रोश व्‍याप्‍त है. वहीं, वसुंधरा सरकार विरोध जताने वाले लोगों की समस्‍या का निराकरण करने की बजाय उनका दमन करने में जुटी हुई है

मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे पर निशाना साधते हुए सचिन पायलट ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने कभी हिंसा की राजनीति का समर्थन नहीं किया है. जिस दिन राजस्‍थान गौरव यात्रा के काफिले पर पथराव हुआ था, उस दिन कांग्रेस के सभी नेताओं ने उस हमले की निंदा की थी. वहीं, मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे जनता के गुस्‍से को कांग्रेस का विरोध बताकर न केवल राजनीति कर रही हैं, बल्कि मतदाताओं की सहानुभूति बटोरने की कोशिश भी कर रही हैं. उल्‍लेखनीय है कि राजस्‍थान गौरव यात्रा के दूसरे चरण में बुधवार को मुख्‍यमंत्री ने जैतारण की जनसभा को संबोधित करते हुए राजस्‍थान के पूर्व मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत और प्रदेश कांग्रेस अध्‍यक्ष सचिन पाटलट पर व्‍यक्तिगत टिप्‍पणियां की थीं.