जयपुर: राजस्थान के देवस्थान विभाग राज्यमंत्री राजकुमार रिणवा ने सोमवार को लोगों को सलाह दी कि अगर ईंधन के दाम बढ़ रहे हैं तो उन्हें अपने खर्च में कटौती करनी चाहिए. रिणवा ने कहा कि ईंधन कीमतें विश्व बाजार से नियंत्रित होती हैं और इससे सरकार का कोई लेना देना नहीं, फिर भी प्रयास किए जा रहे हैं. उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की सरकार ने पेट्रोल व डीजल पर वैट में रविवार को चार प्रतिशत की कमी की ताकि लोगों को कुछ राहत मिले. वहीं कांग्रेस ने ईंधन की बढ़ती कीमतों के विरोध में सोमवार को भारत बंद बुलाया था.

ईंधन की बढ़ती कीमतों के संदर्भ में मंत्री रिणवा ने कहा कि ईंधन की कीमतें व इसकी खपत बढ़ रही है लेकिन लोग इसे समझते नहीं हैं. मंत्री ने कहा, "जनता ये तो समझती है नहीं कि अगर क्रूड कीमतें बढ़ रही हैं तो हम कुछ खर्चा कम कर लें. ये तो किसी के समझ में आता नहीं है." उन्होंने यह भी कहा, "सरकार करों में कटौती करके ईंधन कीमतें कम करने का प्रयास कर रही है."

राजस्थान कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने मंत्री राजकुमार रिणवा के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि बीजेपी नेताओं की ऐसी टिप्पणियां बताती है कि वे बहुत ही अहंकारी हो गए हैं और वे लोगों की जरूरतों के प्रति असंवेदनशील हो गए हैं. लोग जब पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से परेशान हैं तो वे ऐसे बयान देकर दुखों को और बढ़ा रहे हैं.

गौरतलब है कि कांग्रेस ने आज पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर पूरे देश में भारत बंद बुलाया है. 21 विपक्षी पार्टियों ने कांग्रेस को समर्थन दिया है. राजधानी दिल्ली में पेट्रोल की कीमतें 80.73 जबकि डीजल की कीमतें 72.83 रुपये प्रति लीटर के स्तर पर पहुंच गई हैं. वहीं, मुंबई में पेट्रोल-डीजल की कीमतें क्रमश: 88.12 और 77.32 रुपये प्रतिलीटर हैं.