अच्छी सेहत के लिए लोग संतुलित भोजन का सेवन करते हैं। वहीं, सिर्फ अच्छा खाना ही नहीं बल्कि इसका समय पर सेवन करना भी बहुत जरूरी है। कुछ लोग अपनी रूटीन के इतने पक्के होते हैं कि खान-पान में मामूली सा बदलाव भी उन्हें पसंद नहीं होता। इसके बावजूद भी मोटापा और दिल से जुड़े रोग से लोग परेशान रहते हैं। वहीं, अगर नाश्ते में कुछ बदलाव किए जाए तो शरीर में फैट को कम करने में मदद मिल सकती है।

एक अध्ययन के मुताबिक, रोजाना नाश्ता करने के समय में थोड़ा-सा बदलाव मोटापे से संबंधित बीमारियों के जोखिम को कम कर सकता है।

सरे यूनिवर्सिटी ब्रिटेन के शोधकर्ताओं ने डायबिटीज और दिल के रोगों से बचने के लिए भोजन के समय में बदलाव के प्रभाव की जांच की। इस अध्ययन में शामिल लोगों को दो टीमों में बांटा गया। जिसमें एक टीम ने निश्चित समय पर ब्रेकफास्ट किया और दूसरे ने अपने समय से 90 मिनट की दूरी पर सुबह का खाना खाया। नतीजे में पाया गया कि जिन लोगों ने अपने खाने में बदलाव किया उनके शरीर में वसा की मात्रा में कमी पाई गई। जिससे मोटापा और दिल के रोगों से राहत पाने में बहुत मदद मिलती है।