विलमिंगटनः अमरीका में फ्लोरेंस तूफान के तट के निकटतर आने के साथ ही शुक्रवार को सुबह को तेज हवाओं के साथ-साथ मूसलधार बारिश शुरू हो गई और दोनों कैरोलिना पर तूफान ने कहर बरपाना शुरू कर दिया।

अधिकारियों ने इसे बेहद खतरनाक घटना बताते हुए आगाह किया है। खबरों के मुताबिक, उत्तरी कैरोलिना के तटीय रास्तों पर पानी भर गया है और तेज हवाओं के कारण पेड़-पौधे उखड़ गए हैं। कैटेगरी एक में बदला तूफान पिछले दिनों के मुकाबले कमजोर हुआ है और कम गति से आगे बढ़ रहा है।

शुक्रवार को इसके किसी भी वक्त यहां पहुंचने की आशंका थी। तूफान के बाहरी चक्र के पहुंचने के बाद उत्तरी कैरोलिना में 1,50,000 लोगों तक बिजली आपूर्ति के खत्म होने की खबरें हैं। अमरीकी टीवी चैनलों पर दिखाए जा रहे फुटेज में पानी को तटबंधों एवं बांधों से तेजी से टकराते हुए और समुद्र तट से लगी सड़कों पर फैलते हुए देखा जा सकता है।  

मियामी में नेशनल हिर्रकेन सेंटर ने रिपोर्ट में बताया कि उत्तरी कैरोलिना तट पर खतरनाक तूफान आगे बढ़ रहा है और तूफानी हवाएं तेज हो रही हैं। अपने परामर्श में सेंटर ने कहा कि फ्लोरेंस उत्तरी कैरोलिना के विलमिंगटन से करीब 35 मील पूर्व में अटलांटिक महासागर के ऊपर था और छह मील प्रति घंटा की रफ्तार से उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ रहा है। एन.एच.सी. ने कहा कि तूफान के शुरुआती प्रभावों को उत्तर कैरोलिना के न्यू बर्न में न्यूज नदी पर बने एक बाढ़ मापक ने बाढ़ के पानी की माप 10 फुट बताई है।