मुंबई: महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अशोक चव्हाण ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार ने गुरुवार को पेट्रोल और डीजल के दाम में ढाई रुपये प्रति लीटर की कटौती से लोगों को ज्यादा राहत नहीं मिलेगी।

चव्हाण ने कहा, "राज्य में पेट्रोल 92 रुपये के आस-पास पहुंच गया है। इसलिए इस कटौती से ज्यादा फर्क नहीं पड़ेगा। ईंधन की कीमत में बड़ी कमी की जाने की जरूरत है।"

उन्होंने कहा कि पेट्रोल और डीजल को माल एवं सेवा कर के दायरे में लाया जाना चाहिए। इससे पहले वित्त मंत्री जेटली ने दिल्ली में डीजल और पेट्रोल पर ढाई रुपये प्रति लीटर की राहत देने की घोषणा की। उन्होंने राज्य सरकारों से भी वैट में इतनी ही कटौती करने का आव्हन किया था। यह कटौती ऐसे समय की गयी है जब पेट्रोल और डीजल की कीमत सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गयी।