मुस्कुराने से हमारे आस-पास का माहौल भी खुशनुमा हो जाता है। इससे इंसान कुछ देर के लिए तनाव भूलकर खुद को फ्रेश महसूस करता है। मेडिकल साइस भी यह मानती है कि मुस्कुराना एक तरह का व्यायाम हैं, इससे दिमाग में डोपामाइन हॉर्मोंस पैदा होता है, जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। इस लिहाज से खुश रहना सेहत के लिए भी बहुत अच्छा है। इससे दिल की बीमारिया, ब्लड प्रेशर,डिप्रेशन आदि कई तरह के रोग दूर हो जाते हैं। इसके अलावा यह हमारी उम्र भी बढ़ा देता है।

इससे दिमाग में पैदा होने वाला डोपामाइन हॉर्मोंस रिलीज होने लगता है, जिससे हार्ट अटैक,इंफैक्शन,डायबिटीज जैसी बीमारियों का खतरा कम हो जाता है। इससे कोलेस्ट्रॉल लेवल भी कंट्रोल रहता है।

इससे कई तरह के मानसिक रोग भी दूर हो जाते हैं। मुस्कुराहट से इंसान की सोच भी साकारात्मक हो जाती है। तनाव कई गुणा तक कम हो जाता है। जिससे इंसान की उम्र बढ़ने के साथ बीमारियां कोसो दूर रहती हैं।