भोपाल: भले ही मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए तारीखों का ऐलान अभी नहीं हुआ हो, लेकिन देश के दोनों बड़े राजनीतिक दल कांग्रेस और भाजपा के नेताओं का राज्य की तरफ रुख करने का दौर जारी है। दोनों पार्टियों के राष्ट्रीय अध्यक्ष 6 अक्टूबर (शनिवार) को एक बार फिर मध्य प्रदेश आ रहे हैं। वे अलग-अलग जिलों में रोड शो और जनसभाएं करेंगे।

एक तरफ भाजपा चौथी बार मध्यप्रदेश की सत्ता में आने को आतुर है, तो दूसरी तरफ 15 साल से राजनीति का वनवास झेल रही कांग्रेस कैसे भी सत्ता में अपनी वापसी करना चाहती है। दोनों ही पार्टियां एड़ी-चोटी का जोर लगाए हुए। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ताबड़तोड़ रोड शो कर रहे हैं, तो पीएम मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भोपाल के जंबूरी मैदान से कार्यकर्ता महाकुंभ के जरिए चुनावी बिगुल फूंक चुके हैं।

दिल्ली से अमित शाह के दौरे की सूची प्रदेश बीजेपी को मिल चुकी है। जिसके मुताबिक शाह छह अक्टूबर से मध्य प्रदेश में रहेंगे। वे इस दौरान इंदौर, उज्जैन, सागर, भोपाल, होशंगाबाद, ग्वालियर, चंबल, शहडोल, रीवा और जबलपुर संभाग में प्रवास पर रहेंगे।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सतना और रीवा में रोड शो और रैली कर विंध्य का दो दिवसीय दौरा कर चुके हैं। अब वो 6 अक्टूबर को मुरैना और जबलपुर का दौरा करेंगे। वही प्रदेश कांग्रेस के मुताबिक राहुल गांधी ग्वालियर से हेलिकॉप्टर के जरिए मुरैना जाएंगे। मुरैना में एकता परिषद के कार्यक्रम में शामिल होने के बाद राहुल जबलपुर जाएंगे और यहां ग्वारी घाट में नर्मदा पूजन करे और फिर रोड शो निकालेंगे।

बीजेपी मध्य प्रदेश में बीते 15 सालों से सत्ता पर काबिज है और चौथी बार चुनाव जीतना चाहती है। वहीं, कांग्रेस बीजेपी के खिलाफ एंटी इनकंबेंसी को भुनाकर 15 वर्षों के सत्ता वनवास को खत्म करने की पूरी कोशिश में है। ये देखना दिलच्सप होगा कि 'किसमें कितना है दम', दोनों अध्यक्षों में से कौन सा प्रतिभावान अध्यक्ष वोटर्स को लुभा कर अपने पक्ष में करने में सफल होता है।