भोपाल: इसी वर्ष के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं। जिसके लिये सरकार एक बार फिर किसानों को खुश करने जा रही है। आचार संहिता लागू होने से पहले किसानों के खातों में करोड़ों रुपए जमा किये जाएंगे। मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि योजना में पंजीकृत किसानों के बैंक खातों में 28 सितम्बर को प्रोत्साहन राशि जमा की जाएगी। यह राशि RTGS/NEFT के माध्यम से सिंगल क्लिक जमा की जाएगी। इसके लिए प्रदेश भर में किसान सम्मलेन प्रायोजित किये जाएंगे।

सीएम शिवराज सिंह होशंगाबाद जिले के पिपरिया में होने वाले किसान सम्मलेन को सम्बोधित करेंगे, वहीं जिले के पात्र पंजीकृत किसानों के खातों में प्रोत्साहन राशि डाली जाएगी। किसानों के पंजीकृत मोबाईल नम्बर पर राशि जमा होने की जानकारी एसएमएस के माध्यम से पहुंच जाएगी। यह प्रोत्साहन राशि चना, मसूर, सरसों, मूंग, प्याज, लहसुन और उड़द की फसल के लिये दी जाएगी। बाजार में फसलों के मुल्य कम होने के कारण किसानों को होने वाले नुकसान से बचाने के लिए ही सरकार ने प्रोत्साहन राशि देने का फैसला किया है। इस योजना के तहत प्याज का मूल्य चार सौ रुपऐ क्विंटल और लहसुन का आठ सौ रुपए क्विंटल तय किया गया है। राज्य मे करीब दो लाख किसानों ने मंडियों में प्याज और लहसुन बेची। ठीक इसी तरह चना, मसूर और सरसों पर 100 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।

प्रमुख सचिव किसान कल्याण डॉ राजेश राजौरा ने मंदसौर, नीमच औऱ रतलाम जिले को छोड़कर शेष जिलों के कलेक्टरों को प्रोत्साहन राशि वितरण व किसान सम्मेलन आयोजन के बारे में दिशा-निर्देश जारी किये हैं। डॉ. राजेश राजौरा ने बताया है कि जिलों को प्रोत्साहन राशि वितरण के लिये मांग पत्र के आधार पर बजट आवंटन जारी कर दिया गया है। बता दें कि मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि योजना के द्वारा 28 सितम्बर को सीएम शिवराज सिंह के द्वारा 9.48 लाख किसानों के बैंक खातों में 853 करोड़ की राशि जमा की जाएगी।