नई दिल्ली : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी 6 अक्टूबर शनिवार को मध्यप्रदेश में मुरैना और जबलपुर के एक दिवसीय चुनावी दौरे पर आ रहे हैं. प्रदेश में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं और पिछले 20 दिनों में कांग्रेस अध्यक्ष की प्रदेश की यह तीसरी चुनाव प्रचार यात्रा है. राहुल गांधी छह अक्टूबर को 11 बजे विशेष विमान से ग्वालियर पहुंचेंगे. इसके बाद वह हेलीकॉप्टर से 12 बजे मुरैना पहुंचेंगे और दोपहर एक बजे आम्बेडकर स्टेडियम में आदिवासी एकता परिषद और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के सम्मेलन को सम्बोधित करेंगे. इसके बाद बाद वह जबलपुर जायेंगे.

एकता परिषद के राष्ट्रीय संयोजक पीवी राजगोपाल ने कहा कि दो अक्टूबर से हमने ग्वालियर से दिल्ली के लिये पदयात्रा शुरू की है. कांग्रेस अध्यक्ष हमारी समस्याएं जानने के लिये मुरैना आ रहे हैं और हमें बताएंगे कि कांग्रेस की केन्द्र में सरकार बनने पर किस प्रकार हमारी समस्याओं का समधान किया जायेगा. उन्होंने बताया कि एकता परिषद की ग्वालियर से दिल्ली के लिये यह तीसरी यात्रा है. इससे पहले की दो यात्राएं दिल्ली पहुंचने से पहले ही तत्कालीन सरकार के आश्वासन दिये जाने के बाद बीच में स्थगित कर दी गई थीं.

राजगोपाल ने बताया कि परिषद ने मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस अध्यक्ष को पदयात्रा में शामिल होने का निमंत्रण भेजा था, जिसे राहुल ने स्वीकार कर लिया और वह हमारी परिषद के कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करेंगे. मुरैना में इस मौके पर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ, कांग्रेस की प्रदेश चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया और कांग्रेस के अन्य नेता भी मौजूद रहेंगे.

राहुल गांधी जबलपुर में वह ग्वारी घाट पर नर्मदा पूजन करने के बाद 4.30 बजे बंदरिया तिराहा से अब्दुल हमीद तिराहे तक रोड शो करेंगे. आठ किलोमीटर लम्बा रोड-शो मार्ग पूरी तरह बैनर-पोस्टरों से पटा हुआ है. स्वागत से लिए 100 से अधिक मंच लगाये गये हैं. कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष की सुरक्षा व्यवस्था के लिए एसपीजी के अलावा 1500 पुलिसकर्मी तैनात रहेंगे. जिस ओपन मेटाडोर में राहुल गांधी रोड शो करेंगे, उसे एसपीजी ने अपने कब्जे में ले लिया है. उन्होंने बताया कि कांग्रेस अध्यक्ष जबलपुर में रोड शो करने के बाद शाम को जबलपुर के रद्दी चौक पर एक आमसभा को सम्बोधित करेंगे और रात में जबलपुर से नई दिल्ली के लिये रवाना हो जायेंगे.