नई दिल्ली : भाजपा अध्यक्ष अमित शाह शनिवार को एक दिवसीय यात्रा पर मध्य प्रदेश जा रहे हैं जहां वे इंदौर, झाबुआ, रतलाम और उज्जैन में कई कार्यक्रमों में भाग लेंगे. भाजपा मीडिया प्रकोष्ठ के प्रमुख अनिल बलूनी ने एक बयान में बताया कि शाह शनिवार सुबह 11 बजे इंदौर पहुंचेंगे जहां वह जनसम्पर्क अभियान में भाग लेंगे. इसके बाद दोपहर में वह दशहरा मैदान में इंदौर संभाग के 9 जिलों के कार्यकर्ताओं के सम्मेलन को संबोधित करेंगे.

दोपहर बाद अमित शाह झाबुआ में जनजातीय सम्मेलन को संबोधित करेंगे. शाम में वह रतलाम में जावरा में किसान सम्मेलन को संबोधित करेंगे. शाह छह बजे उज्जैन में 8 जिलों उज्जैल नगर, उज्जैन ग्रामीण, शाजापुर, आगर, देवास, रतलाम, मंदसौर और नीमच के कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे. अमित शाह देर शाम उज्जैन में महाकालेश्चर मंदिर में भगवान महाकाल के दर्शन करेंगे.

.@BJP4India के राष्ट्रीय अध्यक्ष आदरणीय श्री @AmitShah जी के 6 अक्टूबर, शनिवार को #MadhyaPradesh के इंदौर एवं उज्जैन संभाग में आयोजित कार्यक्रम#Shah4Mahavijay @narendramodi @ChouhanShivraj @MPRakeshSingh @nstomar @Ramlal pic.twitter.com/nlEqX01Bil

— BJP MadhyaPradesh (@BJP4MP) October 5, 2018

राजनीतिक विश्लेषकों की मानें तो प्रदेश में चुनावी साल में एक बड़े आंदोलन ने और कुछ नए राजनीतिक दलों ने दोनों ही पार्टियों की परेशानियां बढ़ा दी हैं. फिर चाहे कांग्रेस हो जो सत्ता में 14 सालों का वनवास भोग रही हो या बीजेपी हो जो अपने विकास पर वोट मांग रही है दोनों को अपनी जमीन मध्यप्रदेश में खिसकती हुई नजर आ रही है. यही कारण है कि दोनों के राष्ट्रीय अध्यक्ष मिशन 2018 और 19 को लेकर मध्य प्रदेश की सियासत को हम मान रहे हैं तो दूसरी और कांग्रेस और बीजेपी के अपने-अपने तर्क हैं.