मुरैना: मध्य प्रदेश के ग्वालियर से दिल्ली की ओर बढ़ रहे भूमिहीन सत्याग्रहियों के आंदोलन में हिस्सा लेने मुरैना पहुंचे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि देश में गरीबों, आदिवासी, मजदूरों और अल्पसंख्यकों पर हमले हो रहे हैं. राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस न्याय की लड़ाई लड़ रही है. कांग्रेस चाहती है कि उद्योगपतियों की तरह किसानों का भी तीन लाख करोड़ रुपये कर्ज माफ किया जाए.

राहुल गांधी ने कहा, "वर्तमान सरकार 15 उद्योगपतियों पर मेहरबान है. साढ़े चार साल में इनका तीन लाख करोड़ रुपये का कर्ज माफ किया जा चुका है. हमारी मांग है कि इतनी ही राशि किसानों की माफ की जाए. जब सरकार 15 लोगों के लिए ऐसा कर सकती है तो लाखों किसानों, आदिवासियों के लिए क्यों नहीं."

मुरैना के स्टेडियम में सत्याग्रहियों के बीच पहुंचे राहुल ने किसान, आदिवासियों को भरोसा दिलाया कि कांग्रेस की सरकार आने पर किसानों का कर्ज माफ किया जाएगा. राज्य प्रचार अभियान समिति के समन्वयक मनीष राजपूत ने बताया कि विशेष विमान से ग्वालियर पहुंचने पर गांधी की अगवानी कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ, प्रचार अभियान समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया सहित अन्य नेताओं ने की. उसके बाद राहुल हेलीकॉप्टर से मुरैना पहुंचे.

सत्याग्रही गुरुवार को ग्वालियर से अपनी पांच सूत्री मांगों को लेकर दिल्ली कूच पर निकले हैं. बीते दो दिनों में सत्याग्रहियों ने 36 किलोमीटर का रास्ता तय किया है. शनिवार को यात्रा का तीसरा दिन है. सत्याग्रही सुबह नूराबाद टेकरी गांव से मुरैना की ओर आगे बढ़े. इसके पहले, प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री वीरेंद्र खटीक सत्याग्रहियों के बीच पहुंचकर अपनी सरकारों का पक्ष रख चुके हैं.