नई दिल्ली: बॉलीवुड एक्ट्रेस तनुश्री दत्ता द्वारा अभिनेता नाना पाटेकर पर यौन शोषण करने का आरोप लगाने से हिंदी फिल्म उद्योग में इस मुद्दे पर बहस शुरू होने के बीच अभिनेता पुलकित सम्राट ने फिल्म बिरादरी से साथ आकर जहरीले लोगों को बेदखल करने की अपील की है. 'फुकरे' के अभिनेता ने रविवार को अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक लंबा पत्र लिखकर अपना पक्ष रखा.

Pulkit Samrat

उन्होंने पत्र में लिखा, "समानता, स्वतंत्रता और बिना भेदभाव वाले गुणों से बने बॉलीवुड उद्योग के एक अंग के तौर पर मुझे लगता है कि मुझे आगे आकर इस आडंबर का पर्दाफाश करना होगा. मुख्य रूप से इस मामले में जिसमें तनुश्री दत्ता ने नाना पाटेकर पर फिल्म के सेट पर उनका यौन शोषण करने का आरोप लगाया है. कहानी के बाहर आते ही मुझे आस-पास स्वाभाविक बातें सुनाई पड़ने लगीं. उन्होंने ये सब पहले क्यों नहीं कहा? उन्होंने लगभग एक दशक का इंतजार क्यों किया? नाना पाटेकर? लेकिन वे तो कितने अच्छे इंसान हैं. उन्होंने किसानों के लिए बहुत कुछ किया है."

Pulkit Samrat

पुलकित ने फिर समाज पर चुप्पी को बढ़ावा देने के लिए आरोप लगाया. उन्होंने लिखा, "एक समाज के तौर पर, कहीं ना कहीं हम चुप्पी को बढ़ावा देते हैं. हम शक्तिशाली लोगों पर गलत आरोप लगाने से इसलिए डरते हैं कि कहीं इससे हमारे करियर या सामाजिक स्थिति पर गलत प्रभाव न पड़ जाए. प्रशासन की उदासीनता से मामले में कोई फायदा नहीं मिलता."

Pulkit Samrat

34 साल के पुलकित मानते हैं कि सबसे पहले फिल्मी दुनिया के लोगों को सक्रिय होकर प्रयास करना चाहिए और इस प्रथा को बदलना चाहिए.

Pulkit Samrat

 

 

पुलकित ने कहा, "अगर हमें लगता है कि कोई व्यक्ति लगातार गलत व्यवहार में संलिप्त पाया जाता है और यह हमारे सामने हो रहा है तो नजर घुमाने की अपेक्षा प्रशासन से ऐसे लोगों की शिकायत करनी चाहिए."