गुजरात से उत्तर भारतीयों के पलायन के बीच अहमदाबाद में शेखपुरा में स्थानीय लोगों ने 47 मजदूरों को फैक्ट्री में बंधक बना लिया है और उनके साथ मारपीट की जा रही है.

पिछले हफ्ते गुजरात के साबरकांठा जिले में 14 माह की बच्ची से रेप की घटना के बाद गुजरातियों का उत्तर भारतीय समुदाय के लोगों पर गुस्सा फूट पड़ा और उन पर लगातार हमले की घटना के बाद लोगों का वहां से पलायन जारी है. इस बीच गुजरात से भागकर बिहार पहुंचे लोगों ने शेखपुरा के जिलाधिकारी से मिलकर इसकी शिकायत करते हुए बताया कि अहमदाबाद में 47 मजदूरों को बंधक बना लिया गया है.

शिकायतकर्ताओं का दावा है कि बंधक बनाए गए मजदूरों के साथ मारपीट भी की जा रही है. गुजरात से बचकर आने वाले मजदूरों ने स्थानीय जिलाधिकारी से मिलकर उनकी हिफाजत किए जाने की गुहार लगाई है.

रेप की एक घटना सामने आने के बाद गुजरात के कई इलाकों में उत्तर प्रदेश और बिहार के लोगों को निशाने पर लिया जा रहा है जिसके बाद कई क्षेत्रों से यूपी-बिहार के लोगों ने पलायन शुरू कर दिया.

दूसरी ओर, गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने दावा किया है कि पिछले 48 घंटे में इन घटनाओं में कमी आई है.

वहीं, गैर गुजरातियों पर हमला करने के आरोप में शामिल करीब 300 से अधिक लोगों को गुजरात पुलिस ने गिरफ्तार किया है. अब इस मसले पर राजनीतिक बयानबाजी भी तेज हो गई है. केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने इस मसले पर कांग्रेस को निशाने पर लिया. उन्होंने कहा कि पहले महाराष्ट्र में जब बिहार के लोगों को मारा जाता था, तब भले ही राज ठाकरे थे लेकिन उसके पीछे कांग्रेस थी.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि गुजरात में जो भी हो रहा है उसके लिए कांग्रेस जिम्मेदार है. राहुल गांधी के पास कोई मुद्दा नहीं है, इसलिए वह जाति के नाम पर लोगों को भड़का रहे हैं.

कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने पीएम नरेंद्र मोदी पर जोरदार वार किया. संजय निरुपम ने पीएम को धमकी भरे अंदाज में कहा है कि उन्हें याद रखना चाहिए कि एक दिन उन्हें भी वाराणसी जाना है.