नई दिल्ली: भारत में देर से ही सही लेकिन सेक्शुअल हैरेसमेंट को लेकर शुरू हुए #MeToo अभियान का असर दिखने लगा है. दिन गुज़रने के साथ ही उन महिलाओं की तादाद में भी बढ़ोत्तरी देखी जा रही है जिनके साथ ज़िंदगी में कभी न कभी ऐसी घटनाएं हुई हैं. तनुश्री दत्ता ने नाना पाटेकर पर आरोप लगाए जिसके बाद एक कड़ी सी चल पड़ी. #MeToo की जद में अब तक कैलाश खेर, विकास बहल, नाना पाटेकर, चेतन भगत और रजत कपूर जैसे कई बड़े सितारे आ चुके हैं. अभी सबसे ताज़ा आरोप टीवी और फिल्म की दुनिया के मशहूर और सबसे संस्कारी अभिनेता माने जाने वाले आलोक नाथ पर लगा है.

कई साल पुराने इस मामले में प्रोड्यूसर और लेखिका विनता नंदा ने आलोक नाथ पर रेप का इल्ज़ाम लगाया है. उन्होंने अपने इतने पुराने दर्द को सोशल मीडिया पर शेयर किया जिसके बाद हंगामा मच गया. हालांकि आलोक नाथ ने खुद पर लगे इस आरोप का खंडन किया है. एक के बाद एक हो रहे इन खुलासों से बॉलीवुड हिल सा गया है. तनुश्री का मामला सामने आने के बाद से ही धीरे धीरे ही सही, लेकिन सितारों ने अपनी ज़ुबां खोलनी शुरू कर दी है. उस वक्त फरहान अख्तर, प्रियंका चोपड़ा, सोनम कपूर और ट्विंकल खन्ना जैसे कई सितारे इस तरह की घटनाओं के खिलाफ खुलकर बोले थे और तनुश्री की हिम्मत को सराहते हुए उनका साथ देने की बात कही थी.

#MeToo अभियान पर अब ताज़ा बयान अभिनेत्री ऐश्वर्या राय बच्चन का आया है. हफपोस्ट से बात करते हुए ऐश्वर्या ने इस मामले पर खुलकर अपने विचार रखे हैं. उन्होंने इस बात के लिए खुशी ज़ाहिर की है कि ये अभियान अब तेज़ हो रहा है. ऐश्वर्या ने ये भी कहा है कि इस तरह की घटनाएं काफी लंबे समय से हो रही हैं.

एशवर्या ने कहा, “मैंने हमेशा खुलकर अपनी बात रखी है, मैं पहले भी बोल चुकी हूं, मैं अब भी बोल रही हूं और मैं बोलती रहूंगी. ताकी महिलाओं की आवाज खोजने में मदद हो सके, वो अपनी ताकत ढूंढ सकें और खुद की कहानियों को शेयर करने के लिए कॉन्फिडेंट हो सकें. ये सिर्फ आज की बात नहीं है. ये काफी लंबे समय से होता आ रहा है और मैं खुश हूं कि इसने अब रफ्तार पकड़ ली है.”

इस तरह की घटनाओं में जिस तरह सोशल मीडिया पीड़ित की मदद करता है ऐश्वर्या राय बच्चन ने उसकी भी तारीफ की है. उन्होंने कहा, “सोशल मीडिया ने संवाद को सक्षम बना दिया है. यही वजह है कि कोई भी महिला हो, दुनिया के किसी भी हिस्से की हो, आज हर उस महिला की बात सुनी जा रही है जिसको कुछ कहना है.”

ऐशवर्या ने किसी मामले का ज़िक्र तो नहीं किया लेकिन उन्होंने #MeToo को वक्त की ज़रूरत बताया. उन्होंने कहा, “#MeToo अभियान आज के वक्त की ज़रूरत बन गया है. मुझे उम्मीद है की हम साथ मिलकर इसकी रफ्तार बनाए रखेंगे. साथ ही जब मामला विचाराधीन हो तो हमें कानून की इज़्ज़त करनी चाहिए.”