नई दिल्ली: राफेल डील को लेकर सत्ताधारी पार्टी बीजेपी और विपक्षी पार्टी कांग्रेस के बीच चल रहा आरोप-प्रत्यारोप का दौर खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। इसी बीच, आज कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सीधा हमला करते हुए कहा कि देश के प्रधानमंत्री भ्रष्टाचारी हैं और वह रक्षा सौदे में हुए भ्रष्टाचार में सीधे तौर पर लिप्त हैं, इसलिए उन्हें इस्तीफा देना चाहिए।  

राहुल गांधी ने यहां पार्टी मुख्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि राफेल खरीद में बड़ा भ्रष्टाचार हुआ है। संसद की संयुक्त समिति से इसकी जांच कराई जानी चाहिए। जांच से दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। इसमें प्रधानमंत्री ने सीधे-सीधे भ्रष्टाचार किया है और उनकी भी जांच होनी चाहिए।  

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि राफेल खरीद में जिस तरह से सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी एचएएल से ठेका छीनकर कर उद्योगपति अनिल अंबानी की कंपनी को यह काम दिया गया है, उससे साफ है कि खुद को देश का चौकीदार बताने वाले मोदी अब अनिल अंबानी की चौकीदारी कर रहे हैं। यह सीधा भ्रष्टाचार का मामला है और मोदी ने यह भ्रष्टाचार किया है। इसलिए उन्हें इस बारे में जवाब देना चाहिए या फिर वह इस्तीफा दें। राहुल ने कहा कि 30 हजार करोड़ प्रधानमंत्री ने अनिल अंबानी की जेब में डाले।

मोदी सरकार में हालात ये हैं कि अमीर व्यक्ति बैंक में जाता है तो बैंक के दरवाजे जादू से खुल जाते हैं और जितना चाहे उतना पैसा मिलता है, लेकिन जब गरीब आदमी जाता है तो बैंक साफ इनकार कर देता है। उन्होंने आगे कहा कि पीएम मोदी ने देश के किसानों, युवाओं और गरीबों के साथ विश्वासघात किया है।