भोपाल: हाई कोर्ट के आदेश के बाद झाबुआ के पेटलाबाद इलाके में पीएम आवास योजना के तहत बनाए गए मकानों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की तस्वीर छपी टाइल्स को हटाया जा रहा है। चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन करने की बात पर आवासों में लगे इन टाइल्स को लेकर विवाद शुरू होने के बाद हाई कोर्ट ने इन्हें हटाने का आदेश जारी किया था।

19 सितंबर को राज्य सरकार ने हाई कोर्ट को बताया था कि अब ये टाइल्स प्रधानमंत्री आवास योजना के किसी भी घर में नहीं लगाए जाएंगे। कोर्ट ने तब आदेश दिया था कि अब तक जितने भी टाइल्स घरों में लगाए गए हैं उन्हें भी तीन महीने के अंदर हटा दिया जाए। सरकारी अधिकारियों के मुताबिक, पेटलाबाद में 234 आवास बनाए गए थे और सभी घरों में 45x60 सेमी का एक टाइल्स लगाया गया था। इन सभी टाइल्स पर 'सबका अपना घर हो अपना' नारे के साथ प्रधानमंत्री और सीएम की तस्वीरें बनी हुई थीं। अप्रैल में स्थानीय कर्मचारियों को हर घर में इन्हें लगाने के निर्देश दिए गए थे। पिछले महीने के अदालत के आदेश के साथ ये टाइल्स हटाने की प्रक्रिया शुरू हुई और फिर आचार संहिता लागू हो गई है।

कांग्रेस ने इसको लेकर चुनाव आयोग से शिकायत की थी कि टाइल्स आचार संहिता का उल्लंघन कर रहे हैं, जिसके बाद हाईकोर्ट ने इन टाइल्स को हटाने का निर्देश दिया था। झाबुआ के जिलाधिकारी आशीष सक्सेना ने कहा, 'हमने आदर्श आचार संहिता से जुड़े निर्देशों के अनुसार कार्रवाई की है।' वहीं कुछ घरों के मालिकों ने उन्हें छुपाने के लिए टाइल्स पर अखबार भी चिपकाया है।