केरल में गूगल मैप के निर्देश से नदी में फंसे लोग: गलत रास्ते ने जान जोखिम में डाली

Jul 4, 2024 - 16:48
 0  25
केरल में गूगल मैप के निर्देश से नदी में फंसे लोग: गलत रास्ते ने जान जोखिम में डाली

गूगल मैप के अस्तित्व में आने के बाद से लोगों को नई या अनजान जगह जाने में आसानी हो गई है। बस गूगल मैप पर लोकेशन डालें और वह आपको रास्ता दिखा देगा। चाहे आप वाहन से हों या पैदल, गूगल मैप आपको मंजिल तक पहुंचाने का मार्गदर्शन करता है।

गूगल मैप का आतंक

पहले जब लोग किसी नई जगह जाते थे, तो उन्हें रास्ता पूछने के लिए जगह-जगह रुकना पड़ता था। गूगल मैप के आने से यह झंझट खत्म हो गया है। हालांकि, गूगल मैप ने कई बार लोगों को खतरे में भी डाला है। हाल ही में कई ऐसे मामले सामने आए हैं जहां गूगल मैप के निर्देशों ने लोगों को जोखिम में डाल दिया।

अस्पताल की जगह नदी में पहुंचाया

हाल ही में केरल का एक मामला सामने आया, जहां अस्पताल जा रहे दो लड़कों को गूगल मैप ने नदी में पहुंचा दिया। नदी के तेज बहाव में फंसने के बाद प्रशासन ने रस्सियों की मदद से उन दोनों को बचाया। एक और मामला केरल के कुरुप्पनथारा से है, जहां चार टूरिस्ट गूगल मैप का इस्तेमाल कर रहे थे और नदी में जा फंसे। स्थानीय लोगों और पुलिस ने उनकी जान बचाई।

आंख बंद कर गूगल मैप पर भरोसा न करें

लोग अक्सर बिना सोचे-समझे गूगल मैप पर भरोसा कर लेते हैं, जो उनके लिए खतरनाक साबित हो सकता है। नई जगह जाने से पहले रूट को अच्छी तरह समझ लें। अगर गूगल मैप फेल हो जाए, तो स्थानीय लोगों से मदद लें। 

गूगल मैप का इस्तेमाल करते समय ध्यान देने योग्य बातें

1. यात्रा शुरू करने से पहले रूट को अच्छी तरह से जान लें।
2. अनजान और सुनसान रास्तों से बचें।
3. हमेशा गूगल मैप को अपडेट रखें।
4. रास्ते में गूगल मैप फेल हो जाए तो स्थानीय लोगों से मदद लें।
5. इंटरनेट न होने की स्थिति में ऑफलाइन मैप डाउनलोड कर रखें।

गूगल मैप एक उपयोगी उपकरण है, लेकिन इसका सावधानीपूर्वक उपयोग जरूरी है। गलत जानकारी जान जोखिम में डाल सकती है।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow

Priyanka I am a dynamic content writer background in human story, lifestyle and journalism.