पश्चिम बंगाल में कपल पर हमले का वीडियो वायरल, भाजपा का ममता बनर्जी पर निशाना

Jul 1, 2024 - 12:33
 0  22
पश्चिम बंगाल में कपल पर हमले का वीडियो वायरल, भाजपा का ममता बनर्जी पर निशाना

पश्चिम बंगाल में एक व्यक्ति द्वारा बीच सड़क पर एक जोड़े को बेरहमी से पीटने का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो को लेकर भाजपा ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और उनकी पार्टी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) पर गंभीर आरोप लगाए हैं। वीडियो में एक व्यक्ति बांस की छड़ियों से एक कपल को पीटता हुआ दिखाई दे रहा है, जिसे ताजमुल उर्फ 'जेसीबी' के नाम से पहचाना गया है।

ताजमुल की पहचान और गिरफ्तारी

भाजपा का आरोप है कि ताजमुल दिनाजपुर जिले के चोपड़ा का स्थानीय टीएमसी नेता है। समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार, यह घटना एक कंगारू कोर्ट के फैसले के बाद हुई थी। हालांकि, वीडियो की पुष्टि स्वतंत्र रूप से नहीं की जा सकी है। पश्चिम बंगाल पुलिस ने मामले में ताजमुल को गिरफ्तार कर लिया है।

विधायक हमीदुल रहमान का बयान

चोपड़ा के विधायक हमीदुल रहमान ने इस घटना पर बयान दिया है। उन्होंने कहा कि महिला की गतिविधियाँ असामाजिक थीं और ताजमुल का टीएमसी से कोई संबंध नहीं है। हमीदुल रहमान ने यह भी कहा कि यह एक गांव का मामला है और इसका पार्टी से कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने इस घटना की निंदा की, लेकिन यह भी कहा कि महिला ने अपने पति, बेटे और बेटी को छोड़कर गलत किया।

भाजपा का टीएमसी पर हमला

भाजपा ने इस घटना को लेकर टीएमसी पर हमला बोला है। भाजपा ने अपने एक्स हैंडल पर पोस्ट करते हुए कहा कि ममता बनर्जी के विधायक मुस्लिम राष्ट्र की बात कर रहे हैं। भाजपा ने सवाल किया कि क्या टीएमसी ने पश्चिम बंगाल को मुस्लिम राज्य घोषित कर दिया है जिसमें शरिया कानून लागू होगा?

जेपी नड्डा का तीखा बयान

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी इस मामले में टीएमसी और ममता बनर्जी पर तीखा हमला किया है। उन्होंने एक्स पर पोस्ट करते हुए कहा कि यह घटना क्रूरताओं की याद दिलाती है। उन्होंने कहा कि टीएमसी और उनके विधायक इस कृत्य को सही ठहरा रहे हैं और ममता बनर्जी का पश्चिम बंगाल महिलाओं के लिए असुरक्षित होता जा रहा है।

टीएमसी की प्रतिक्रिया

दूसरी ओर, टीएमसी के विधायक ने इस घटना को लेकर कहा है कि यह एक गांव का मामला है और इसे पार्टी से जोड़ना गलत है। उन्होंने कहा कि महिला की गतिविधियाँ असामाजिक थीं और ताजमुल का टीएमसी से कोई लेना-देना नहीं है।

इस घटना ने पश्चिम बंगाल की राजनीति में एक नया मोड़ ला दिया है। जहां भाजपा ने इसे लेकर ममता बनर्जी और टीएमसी पर निशाना साधा है, वहीं टीएमसी के विधायक ने इसे एक गांव का मामला बताया है। पुलिस द्वारा ताजमुल की गिरफ्तारी के बाद भी इस मामले में राजनीति गर्मा गई है और दोनों पार्टियों के बीच तनाव बढ़ता जा रहा है।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow