सुप्रीम कोर्ट में नीट-यूजी 2024 विवाद: पेपर लीक पर NTA की पुष्टीकरण, पुनः परीक्षा की संभावना

Jul 8, 2024 - 16:44
 0  29
सुप्रीम कोर्ट में नीट-यूजी 2024 विवाद: पेपर लीक पर NTA की पुष्टीकरण, पुनः परीक्षा की संभावना

मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट-यूजी 2024 को लेकर सुप्रीम कोर्ट में विवादों के बीच 30 से अधिक याचिकाओं पर सुनवाई जारी है। सुनवाई के दौरान नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने स्वीकार किया है कि पेपर लीक हुआ है। सुप्रीम कोर्ट ने इस पर गंभीरता दिखाते हुए कहा है कि यदि दोषियों की पहचान नहीं की जा सकती है, तो पुनः परीक्षा का आदेश देना होगा।

सोशल मीडिया पर प्रश्नपत्र लीक की पुष्टि

सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में अपनी चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि यदि प्रश्नपत्र सोशल मीडिया, जैसे टेलीग्राम और व्हाट्सऐप, के जरिए लीक हुआ है, तो इसे जंगल की आग की तरह फैलते देर नहीं लगती। कोर्ट ने स्पष्ट किया कि ऐसे मामलों में परीक्षा दोबारा आयोजित करानी होगी। अदालत ने यह भी कहा कि 67 उम्मीदवारों का 720 में से 720 अंक प्राप्त करना इस बात की पुष्टि करता है कि प्रश्नपत्र लीक हुआ है, क्योंकि पिछले वर्षों में यह अनुपात बहुत कम था।

लाभार्थियों की पहचान और कार्रवाई

सुप्रीम कोर्ट ने सवाल उठाया कि प्रश्नपत्र लीक के लाभार्थियों की संख्या कितनी है और उनके खिलाफ क्या कार्रवाई की गई है। अदालत ने कहा कि यह जानना जरूरी है कि कितने उम्मीदवारों के परिणाम रोके गए हैं और इन लाभार्थियों का भौगोलिक वितरण क्या है। कोर्ट ने यह भी पूछा कि सरकार परीक्षा रद्द न करने की स्थिति में प्रश्नपत्र लीक के लाभार्थियों की पहचान के लिए क्या कदम उठाएगी।

सुप्रीम कोर्ट की यह सुनवाई नीट-यूजी 2024 परीक्षा में पारदर्शिता और निष्पक्षता सुनिश्चित करने के लिए महत्वपूर्ण है। अदालत की टिप्पणियों से स्पष्ट है कि पेपर लीक के मामले में सख्त कदम उठाए जाएंगे और यदि आवश्यक हुआ तो पुनः परीक्षा का भी आयोजन किया जाएगा। अब देखना यह है कि सरकार और NTA इस मामले में क्या कदम उठाते हैं और परीक्षा की शुचिता को कैसे बनाए रखते हैं।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow