Koo App बंद: ट्विटर को टक्कर देने वाला देसी माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म 4 साल बाद हुआ बंद

Jul 3, 2024 - 16:18
 0  29
Koo App बंद: ट्विटर को टक्कर देने वाला देसी माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म 4 साल बाद हुआ बंद

लॉन्च हुआ यह ऐप ट्विटर को टक्कर देने के लिए लाया गया था, लेकिन चार साल के संघर्ष के बाद भी यह लोगों के बीच लोकप्रिय नहीं हो पाया।

कम यूजर्स और फंडिंग की कमी बनी वजह:

Koo ऐप के बंद होने की मुख्य वजह कम यूजर्स और फंडिंग की कमी बताई जा रही है। रिपोर्ट्स के अनुसार, ऐप पर हर महीने 10 मिलियन एक्टिव यूजर्स और 2.1 मिलियन डेली एक्टिव यूजर्स थे। यह संख्या ट्विटर के यूजर्स की तुलना में काफी कम है।

कई भाषाओं में उपलब्ध था ऐप:

Koo ऐप 10 अलग-अलग भाषाओं में उपलब्ध था, जो इसकी एक खासियत थी। 2023 में अप्रैल महीने में कंपनी ने एक तिहाई कर्मचारियों की छंटनी भी की थी।

निवेशकों से भी जुटाया था पैसा:

Koo ने Accel और Tiger Global जैसे निवेशकों से 60 मिलियन डॉलर से ज्यादा की फंडिंग भी जुटाई थी। लेकिन इसके बावजूद भी कंपनी लोगों के बीच अपनी जगह नहीं बना पाई।

ट्विटर का दबदबा रहा कायम:

शायद यही वजह है कि ट्विटर को टक्कर देने आई कू कंपनी का बोरिया-बिस्तरा समेटने का समय आ गया। ट्विटर ने सालों से भारतीय बाजार में अपनी पकड़ मजबूत बनाई हुई है, जिसके कारण Koo को सफलता हासिल करने में मुश्किलें आईं।

हिंदी में माइक्रोब्लॉगिंग का भविष्य अनिश्चित:

Koo के बंद होने के बाद हिंदी में माइक्रोब्लॉगिंग का भविष्य अनिश्चित हो गया है। यह देखा जाना बाकी है कि क्या कोई और नया माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ट्विटर को टक्कर दे पाएगा या नहीं।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow